ताज़ा खबर
 

Population growth of Italy is negative: इटली में माइनस में जा रही आबादी, पैदा होने वालों से मरने वालों की संख्या 2 लाख ज्यादा, पीएम बोले-संकट में अस्तित्व

Population of Italy: प्रधानमंत्री सेरजियो मात्तारेला ने इन आंकड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि यह स्थिति देश के अस्तित्व के लिए संकट की तरह है। उन्होंने कहा कि हमारे देश का तानाबाना लगातार कमजोर हो रहा है और इस संकट से निपटने के लिए हरसंभव उपाय किए जाने चाहिए।

इटली के अलावा जर्मनी भी घटती आबादी के संकट से परेशान

इटली का भविष्य खतरे में है। खुद प्रधानमंत्री सेरजियो मात्तारेला ने देश की घटती जनसंख्या पर चिंता जताते हुए यह बात कही है। दरअसल कोलंबस और गैलीलियो का देश इटली लगातार कम होती जन्म दर के संकट से जूझ रहा है। 2019 में लगातार 5वें साल इटली में जन्मदर मृत्युदर से कम रही है। इटली की राष्ट्रीय सांख्यिकी एजेंसी ISTAT के मुताबिक 2019 में 4,35,000 बच्चों ने जन्म लिया, यह आंकड़ा 2018 के मुकाबले 5,000 कम है। दूसरी तरफ मरने वालों की संख्या 747,000 रही जो बीते साल की तुलना में 14,000 ज्यादा थी।

इस तरह इटली में पैदा होने वाले लोगों की संख्या मरने वालों के मुकाबले 2,12,000 कम रही। आंकड़ों के मुताबिक पहले विश्व युद्ध के दौरान 1918 के बाद यह पहला मौका है, जब इटली में जन्मदर में इतनी ज्यादा गिरावट देखने को मिली है। इटली में आबादी का यह संकट उसकी अर्थव्यवस्था के लिए भी चिंताजनक है, जहां बुजुर्गों की आबादी में तेजी से इजाफा हुआ हो रहा है और वर्कफोर्स में गिरावट आ रही है।

प्रधानमंत्री सेरजियो मात्तारेला ने इन आंकड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि यह स्थिति देश के अस्तित्व के लिए संकट की तरह है। उन्होंने कहा कि हमारे देश का तानाबाना लगातार कमजोर हो रहा है और इस संकट से निपटने के लिए हरसंभव उपाय किए जाने चाहिए। 78 वर्षीय माात्तारेला ने कहा कि एक बुजुर्ग व्यक्ति के नाते मुझे घटती जन्मदर को लेकर चिंता हो रही है।

इटली की कुल आबादी 1,16,000 कम होकर 60.3 मिलियन हो गई है। जन्मदर कम होने के अलावा पलायन भी इटली के लिए एक बड़ा संकट बनकर उभरा है। हालांकि प्रवासी नागरिकों के चलते इटली की आबादी के संतुलन को बनाने में कुछ मदद मिली है। गौरतलब है कि इटली की तरह ही कई अन्य यूरोपीय देश भी इस तरह के संकट का सामना कर रहे हैं। खासतौर पर जर्मनी में भी मूल निवासियों की जन्म दर में कमी देखने को मिल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘एयरपोर्ट टू स्टेडियम लाखों लोग करेंगे मेरा स्वागत’, अमेरिकी राष्ट्रपति ने लीक किए पीएम मोदी के सेक्रेट प्लान!
2 राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार भारत आ रहे डोनाल्ड ट्रम्प, जाएंगे पीएम मोदी के गृह नगर
3 दिल्ली के एग्जिट पोल पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री की राय, CAA की वजह से हार रहे मोदी
ये पढ़ा क्या?
X