ताज़ा खबर
 

VIDEO: भूकंप के बाद 18 घंटे तक लाशों के ढेर के बीच दबी रही 10 साल की बच्‍ची

भूकंप की वजह से पेस्‍कारा डेल ट्रॉन्‍टो और अमार्ट‍िस समेत कई पहाड़ी इलाके नष्‍ट हो गए हैं।

राहत‍कर्मियों ने कड़ी मशक्‍कत के बाद बच्‍ची को बाहर निकाला। (Source: Youtube/Screen Grab)

इटली में आए विनाशकारी भूकंप के बाद राहत और बचाव कार्य जारी है। भूकंप से प्रभावित पेस्‍कारा डेल ट्रॉन्‍टो कस्‍बे में एक घर के मलबे से राहतकर्मियों ने 10 साल की बच्‍ची को सकुशल बाहर निकाला है। इटली के मध्‍य भाग में आए भूकंप में यह बच्‍ची दब गई थी। 18 घंटे तक मौत से सीधे टक्‍कर लेने के बाद आखिरकार उसे सही-सलामत बाहर निकाल लिया गया। राहतकर्मियों के अनुसार, जिस मलबे से बच्‍ची को जिंदा निकाला गया, वहां के 90 प्रतिशत भूकंप पीड़‍ित मौत की नींद सो चुके थे। समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार, बुधवार को जब बच्‍ची को बाहर निकाला गया तो लोगों ने खुशी जाहिर की। इटली में बुधवार तड़के आए भूकंप में कम से कम 241 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। रिक्‍टर स्‍केल पर 6.2 की तीव्रता वाले भूकंप ने सीमावर्ती क्षेत्रों में लाजियो, अम्ब्रिया और मार्श जैसे इलाकों में भारी तबाही मचाई है।

भूकंप की वजह से पेस्‍कारा डेल ट्रॉन्‍टो और अमार्ट‍िस समेत कई पहाड़ी इलाके नष्‍ट हो गए हैं। भूकंप का केन्‍द्र रेती राज्‍य के उत्‍तरी लाजियो के निकट अकुमोली में बताया जाता है। यह क्षेत्र छुट्टियां बिताने वालों के बीच काफी मशहूर है। भूकंप के बाद भू-स्‍खलन के चलते मौतों की संख्‍या बढ़ने की आशंका है। इसके अलावा राहतकर्मियों को मुहैया कराए गए विशेष उपकरणों की कमी पर भी लोगों ने चिंता जाहिर की है। इतने बड़े पैमाने पर राहत और बचाव कार्य चलाने के बावजूद कुछ गांवों से शिकायत है कि वहां सर्च टीम्‍स देरी से पहुंची। प्रभावित लोगों की मदद के लिए इटली के प्रधानमंत्री मातियो रेंजी ने गुरुवार को अपनी कैबिनेट के साथ बैठक की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App