ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान: रावलपिंडी जेल से रिहा होंगे नवाज शरीफ, इस्लामाबाद HC ने सस्पेंड की जेल की सजा

कोर्ट ने सजा के निलंबन का फैसला शरीफ परिवार और कैप्टर सफदर के द्वारा 6 जुलाई को कोर्ट के द्वारा सुनाए गए फैसले के खिलाफ दायर याचिका की सुनवाई करते हुए दिया। कोर्ट ने उनकी याचिकाओं को भी सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है।

FILE PHOTO: Nawaz Sharif, former Prime Minister and leader of Pakistan Muslim League, gestures to supporters as his daughter Maryam Nawaz looks on during party's workers convention in Islamabadपाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज। फाइल फोटो

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के लिए बुधवार (19 सितंबर) का दिन बेहद राहत भरा संदेश लेकर आया है। जियो न्यूज के मुताबिक, इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम नवाज और दामाद रिटायर्ड कैप्टन मुहम्मद सफदर की एवेनफील्ड मामले में जेल की सजा निलंबित की है।

कोर्ट ने सजा के निलंबन का फैसला शरीफ परिवार और कैप्टर सफदर के द्वारा 6 जुलाई को कोर्ट के द्वारा सुनाए गए फैसले के खिलाफ दायर याचिका की सुनवाई करते हुए दिया। कोर्ट ने उनकी याचिकाओं को भी सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है। कोर्टरूम में मौजूद पीएमएल नवाज के कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और खुशी का इजहार किया। ये बताना प्रासंगिक होगा कि जवाबदेह न्यायालय का फैसला अभी भी अक्षुण्ण रहेगा। हाई कोर्ट ने सिर्फ तीनों आरोपियों की सजा को स्थगित भर किया है।

सजा निलंबन के बाद, नवाज, मरियम और कैप्टन सफदर को औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेल से रिहा कर दिया जाएगा। ये अभी भी साफ नहीं है कि कि वे आज ही रिहा होंगे या कुछ दिनों बाद रिहा होंगे। इन सभी को जमानती बांड के तौर पर करीब 3.62 करोड़ रुपये भी जमा करने होंगे। विपक्ष के नेता और नवाज के छोटे भाई, शहबाज शरीफ ने इस फैसले के आने के बार सूरा अल इसरा की आयत साझा करते हुए लिखा, ”सच आ चुका है और झूठ जा चुका है। जो भी इस प्रकृति में झूठा होगा उसे जाना होगा।”

जवाबदेह न्यायालय ने 6 जुलाई को एवेनफील्ड प्रॉपर्टी मामले में अपना फैसला सुनाया था। कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को आय से अधिक संपत्ति के मामले में 10 साल कैद की सजा सुनाई थी। जबकि एक साल का दंड कोर्ट और अधिकारियों के साथ सहयोग न करने के ​कारण दिया गया था। नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज को 7 साल कैद की सजा सुनाई गई थी। मरियम को ये सजा अपने पिता की संपत्तियों को छिपाने में मदद करने और न्यायालय को बहकाने के जुर्म में सुनाई गई थी।

एक साल का कारावास ब्यूरो के साथ असहयोग के लिए दिया गया था। फैसले के मुताबिक, मरियम नवाज को अपने ​पिता को मदद करने, सहायता करने, बढ़ावा देने, कोशिशों में सहयोग देने और षडयंत्र में शामिल होने पर ये सजा सुनाई गई थी। फैसले में इस बात का भी उल्लेख किया गया था कि मरियम ने कोर्ट में जाली ट्रस्ट डीड भी दाखिल की थी। नवाज शरीफ के दामाद को एक साल कैद की सजा सुनाई गई थी। ये सजा उन्हें जांच एजेंसियों के साथ सहयोग न करने के लिए सुनाई गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन को अमेरिका का उलाहना: हमारे पैसे से किया पुनर्निर्माण, हरेक साल ले रहा 500 अरब डॉलर
2 अपने परमाणु स्थल को नष्ट करने के लिए राजी हो सकते है किम जोंग, बशर्ते अमेरिका भी बढ़ाए कदम
3 चीन और अमेरिका के बीच ‘ट्रेड-वार’ हुआ तेज, ट्रम्प ने 200 अरब डॉलर के आयात पर लगाया 10% टैक्स
ये पढ़ा क्या?
X