ताज़ा खबर
 

ISIS ने सेक्‍स स्‍लेव बनने से इनकार करने पर 19 लड़कियों को पिंजरे में जिंदा जलाया

अगस्त 2014 में आईएसआईएस ने उत्तरी इराक के सिंजर इलाके में कब्जा करने के बाद 3000 से भी ज्यादा यजीदी लड़कियों को सेक्स गुलाम बना लिया था।

Author June 7, 2016 11:05 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर। (REUTERS/Stringer/File Photo)

आईएसआईएस आतंकवादियों ने 19 यजीदी लड़कियों को लोहे के पिंजरे में बंद करके जिंदा जला दिया। एआरए न्यूज साइट की रिपोर्ट के मुताबिक, इन लड़कियों ने सेक्स गुलाम बनने से इनकार कर दिया था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, गुरुवार को मोसुल में भारी भीड़ के सामने इन लड़कियों को आग लगा दी गई। मीडिया कार्यकर्ता अबदुल्ला-अल-माल्ला ने एआरए न्यूज को बताया, ”वे लोग उन्हें आईएसआईएस आतंकवादियों के साथ सेक्स से इनकार करने की सजा दे रहे थे। 19 लड़कियों को सैकड़ों लोगों के सामने जलाकर मार डाला गया और इस जुल्म को देखते रहने के अलावा कोई कुछ नहीं कर सकता था।”

अमेरिका के लिए मुखबिरी के शक में ISIS ने अपने 38 लड़ाकों को मार डाला, तेजाब में डुबोकर ले रहा जान

गौरतलब है कि अगस्त 2014 में आईएसआईएस ने उत्तरी इराक के सिंजर इलाके में कब्जा करने के बाद 3000 से भी ज्यादा यजीदी लड़कियों को सेक्स गुलाम बना लिया था। यहां से करीब 400000 लोगों ने इराक के कुर्दिस्तान प्रांत के दोहक और इरबिल में पलायन किया था। कुर्दिस्तान की क्षेत्रीय सरकार के अधिकारियों के मुताबिक, आईएसआईएस ने लगभग 1800 अगवा की गईं औरतों और लड़कियों को इराक और सीरिया में पकड़ रखा है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24890 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback
  • MICROMAX Q4001 VDEO 1 Grey
    ₹ 4000 MRP ₹ 5499 -27%
    ₹400 Cashback

ढहेगा ISIS का किला? रूसी हवाई हमलों के बूते रक्‍का में घुसी सीरियाई सेना

आईएसआईएस ने 2014 में मोसुल पर कब्जा कर उसे इराक और सीरिया तक फैले स्वात इलाके में अपनी खिलाफत की राजधानी बना लिया था। इराकी सेना ने अपने शिया सैन्य बलों और अमेरिका समर्थित गठबंधन सेना के हवाई हमलों की मदद से गत 24 मार्च को आईएसआईएस के कब्जे से मोसुल को छुड़ाने के लिए आक्रामक अभियान छेड़ा है।

2.4 अरब डॉलर की कमाई के साथ ISIS फिर बना दुनिया का सबसे अमीर आतंकवादी संगठन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App