ताज़ा खबर
 

ISIS को तेल के कारोबार में नुकसान, मछली और कारें बेचकर आतंकियों को दे रहा है सैलरी

आतंकी संगठन आईएसआईएस को हाल के दिनों में कई मोर्चों पर हार का सामना करना पड़ा है। इसके चलते उसे तेल के कारोबार में भी नुकसान उठाना पड़ा है।

Author April 29, 2016 09:03 am
केरल से कई लोगों के आईएस में शामिल होने की पुष्टि हो चुकी है। (Photo: AP)

आतंकी संगठन आईएसआईएस को हाल के दिनों में कई मोर्चों पर हार का सामना करना पड़ा है। इसके चलते उसे तेल के कारोबार में भी नुकसान उठाना पड़ा है। आर्थिक और सामरिक मोर्चे पर मिली विफलता के चलते आईएसआईएस इन दिनों कार और मछलियां बेचकर पैसे कमा रहा है। इराकी अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। सुरक्षा मामलों के जानकारों ने एक समय बताया था कि इस्‍लामिक स्‍टेट को तेल और गैस से सालाना तकरीबन 2.9 बिलियन डॉलर की कमाई होती है।

अमेरिका के नेतृत्‍व वाले गठबंधन ने इस्‍लामिक स्‍टेट के आर्थिक ठिकानों वाले इलाकों पर हवाई हमले किए। इससे आईएसआईएस की तेल उत्‍पादन की क्षमता प्रभावित हुई। तेल और गैस के कई ठिकानों के हाथ से निकल जाने के बाद आतंकियों की सैलरी में भी कटौती की गई। साथ ही इस्‍लामिक स्‍टेट को खेती करने को मजबूर होना पड़ा है।

इराक की केंद्रीय जांच एजेंसी ने बताया कि सुरक्षा बलों द्वारा आईएसआईएस के कई तेल कुंओं पर नियंत्रण कर लेने के बाद आतंकी संगठन उत्‍तरी बगदाद की कई झीलों में मछलीपालन करवा रहा है। आईएसआईएस के डर से वहां के कई मछली पालक किसान भाग गए। वहीं कुछ लोगों ने आईएसआईएस की शर्ते मान ली। वर्तमान में उत्‍तरी बगदाद आईएस की आर्थिक राजधानी है। उसकी कमाई यहीं से होती है।

Read Also‘ISIS ने यौन दासी नहीं बनने पर 250 महिलाओं को मौत के घाट उतारा’ 

इसके अलावा आतंकी मुर्गीपालन और खेती पर 10 प्रतिशत लेवी लगाते हैं। वहीं इराकी सरकार की कार डीलरशिप और फैक्ट्रियों को भी आईएस ने हथिया लिया है। बावजूद इसके आईएस की कमाई में कमी आई है। एक अमेरिकी फर्म की रिपोर्ट के अनुसार आईएसआईएस की कमाई में एक तिहाई की गिरावट हुई है। इसके अनुसार इस्‍लामिक स्‍टेट अपने आतंकियों को सैलरी के साथ ही रेंट अलाउंस और बोनस भी देता है।

Read Also: 

श्री श्री रविशंकर बोले- मैंने शांति वार्ता की कोशिश की तो ISIS ने भेजी सिर कटे शख्‍स की फोटो

ISIS भारत में अपने गुर्गों को इंटरनेट से सिखा रहा बम बनाने का आसान तरीका

30 भारतीय युवाओं को ISIS से जोड़ने और 700 के संपर्क में रहने वाले शफी अरमार की अमेरिकी हमले में मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App