ताज़ा खबर
 

कई बार रेप का शिकार बनने के बाद ISIS के चंगुल से छूटी यजीदी लड़की को मिल सकता है नोबेल शांति पुरस्‍कार

नादिया के नामांकन के बारे में नॉर्वे के सांसद लिसबाकेन ने कहा कि, 'हम यौन हिंसा के खिलाफ लोगों को जगाने के लिए शांति पुरस्‍कार चाहते हैं।'

Author स्‍टेवेंजर | February 2, 2016 16:37 pm
नादिया पिछले साल इस्‍लामिक स्‍टेट के चंगुल से बच निकलने में कामयाब रही थी। (Photo: AP)

साल 2016 के नोबेल शांति पुरस्‍कार के लिए पोप फ्रांसिस, अफगानिस्‍तान की महिला साइक्लिंग टीम और इस्‍लामिक स्‍टेट की अमानवीयता झेलने वाली यजीदी लड़की नामांकित लोगों में शामिल है। नामांकन के लिए सोमवार आखिरी दिन था। पांच सदस्‍यीय नोबेल कमिटी के पास 200 से ज्‍यादा आवदेन आए। आवेदनों पर चर्चा के लिए 29 फरवरी को पहली मीटिंग होगी।

नॉर्वे की सांसद ओदुन लिसबाकेन ने यजीदी लड़की नादिया मुराद का नामांकन भेजा। नादिया पिछले साल इस्‍लामिक स्‍टेट के चंगुल से बच निकलने में कामयाब रही थी। दिसंबर में उसने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद को इस्‍लामिक स्‍टेट के अत्‍याचारों की जानकारी दी थी। उसने बताया था कि उसके सहित कई यजीदी महिलाओं व लड़कियों को बंधक बनाकर रखा गया। उनके साथ कई बार रेप किया जाता। नवंबर में वह भागने में सफल रही। नादिया के नामांकन के बारे में लिसबाकेन ने कहा कि, ‘हम यौन हिंसा के खिलाफ लोगों को जगाने के लिए शांति पुरस्‍कार चाहते हैं।’

Read AlsoNIA के हत्‍थे चढ़े मुदब्बिर का खुलासा- भगत सिंह का नाम लेकर ब्रेनवॉश कर रहा ISIS

लिसबाकेन ने कांगो के सर्जन डेनिस मुक वेगे को भी नामांकित किया। मुकवेगे सिविल वार के दौरान यौन हिंसा की शिकार महिलाओं का इलाज करते हैं। नोबेल पुरस्‍कार विजेता डेसमंड टुटु ने पोप फ्रांसिस, अर्थशास्‍त्री हर्मन डेली और रोम थिंक टैंक के नाम का समर्थन किया। इटली के 118 सांसदों ने अफगान महिला साइक्लिंग टीम की उम्‍मीदवारी पेश की।

Read AlsoISIS ने कहा- मारा गया जिहादी जॉन, जख्‍मी साथी को गिफ्ट कर गया अपनी सेक्‍स स्‍लेव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App