ताज़ा खबर
 

जेहादी जॉन ने दी गैर मुसलिमों का ‘सिर कलम’ करने की धमकी

कंप्यूटर प्रोग्रामर से आतंकवाद की दुनिया में कदम रखकर खूंखार आतंकी बन चुका ‘जेहादी जॉन’ एक वीडियो में यह धमकी देते दिखाई दिया है कि वह ब्रिटेन लौट कर लोगों के सिर कलम करेगा..

Author August 25, 2015 1:00 AM

कंप्यूटर प्रोग्रामर से आतंकवाद की दुनिया में कदम रखकर खूंखार आतंकी बन चुका ‘जेहादी जॉन’ एक वीडियो में यह धमकी देते दिखाई दिया है कि वह ब्रिटेन लौट कर लोगों के सिर कलम करेगा।

अखबार ‘द इंडिपेंडेंट’ के अनुसार इस एक मिनट और 17 सेकेंड के वीडियो में जिहादी जान काला टोप पहने हुए है और पहली बार उसका चेहरा ढंका हुआ है। इस वीडियो में वह यह कहता हुआ नजर आ रहा है कि वह ‘आइएसआइएस के खलीफा के साथ ब्रिटेन लौटेगा और गैर मुसलिमों की हत्या करेगा।’

आतंकवाद के मामले में नाम आने के बाद से वह छिपा हुआ है। कुवैत में पैदा हुए जिहादी जॉन का नाम 27 साल की उम्र में सामने आया था और उसका असली नाम मोहम्मद इमवजी है। वह लंदन में रहता था।

अखबार का कहना है कि यह वीडियो दो महीने पहले का है जो सीरिया में शूट किया गया है। वीडियो में जिहादी जॉन कहता है-‘मैं मोहम्मद इमवजी हूं। मैं खलीफा के साथ जल्द ब्रिटेन जाऊंगा। हम काफिरों को मारेंगे। मैं सिर कलम करूंगा।’

पहले भी वह ऐसे वीडियो और ऑडियो जारी करके पश्चिमी देशों और उनके अरब साझेदारों को धमकी दे चुका है। उसने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन को भी निशाना बनाने की धमकी दी थी।
इस बीच ब्रिटेन में खतरे की आशंका के मद्देनजर पाकिस्तान की नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई को हर समय दो सशस्त्र सुरक्षाकर्मी प्रदान किए गए हैं। बच्चियों की शिक्षा की वकालत करने वाली मलाला को 2011 में तालिबान ने सिर में गोली मार दी थी।

द सन की खबर के अनुसार सुरक्षा बलों को 18 वर्षीय मलाला की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है, क्योंकि खुफिया एजंसियों ने उस पर खतरा बढ़ने की चेतावनी दी है। अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा कि उसकी हत्या के नाकाम प्रयास के बाद से उसकी जान को खतरा बना हुआ है। लेकिन उसकी पहचान बढ़ने के बाद खतरे भी बढ़ गए हैं।

मलाला को जो सुरक्षा प्रदान की गई है, उस स्तर की सुरक्षा आमतौर पर मंत्रियों या अन्य राजनीतिक वीआइपी को प्रदान की जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App