ताज़ा खबर
 

ISI पर है पाकिस्तान में पूर्व सीआईए प्रमुख को जहर देने का शक

ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान में पूर्व सीआईए स्टेशन चीफ को आईएसआई को जहर दिया गया था।

Author वाशिंगटन | May 7, 2016 3:12 AM
ओसामा बिल लादेन

ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान में पूर्व सीआईए स्टेशन चीफ को आईएसआई को जहर दिया गया था। सीआईए के पूर्व प्रमुख मार्क केल्टन ने मई 2011 में उस छापेमारी का नेतृत्व किया था जिसमें अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन मारा गया था।

मार्क केल्टन को एबटाबाद में बिन लादेन के परिसर में छापेमारी के दो महीने के बाद स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं के तहत इस्लामाबाद से हटाया गया था। ‘वाशिंगटन पोस्ट’ ने एक विशेष खोजी रिपोर्ट में कहा, ‘मार्क केल्टन सीआईए से सेवानिवृत्त हैं और पेट की सर्जरी के बाद से उनके स्वास्थ्य में सुधार हुआ है लेकिन एजेंसी के अधिकारियों का यह सोचना है कि भले ही यह प्रमाणिक नहीं है लेकिन यह संभव है कि केल्टन की अचानक बीमारी के पीछे आईएसआई के नाम से जानी जाने वाली पाकिस्तान की इंटर सर्विस इंटेलिजेंस एजेंसी का किसी न किसी तरह से हाथ है।’ यहां पाकिस्तानी दूतावास के एक प्रवक्ता ने इस रिपोर्ट को मनगढ़ंत बताया है।

‘द पोस्ट’ के अनुसार केल्टन ने बार-बार अनुरोध किए जाने के बावजूद साक्षात्कार देने से इनकार कर दिया लेकिन उन्होंने फोन पर बातचीत में कहा कि उनकी बीमारी के कारण का ‘कभी स्पष्ट पता नहीं चल पाया।’ उन्होंने कहा कि वह पहले व्यक्ति नहीं हैं जिन्हें इस बात का शक हुआ है कि उन्हें जहर दिया गया।

समाचार पत्र ने केल्टन के हवाले से कहा, ‘इस बारे में विचार मेरे मन में सबसे पहले नहीं पैदा हुआ था।’ ‘वाशिंगटन पोस्ट’ ने कहा, ‘जहर देने वाली बात का भले ही कोई आधार नहीं हो, तो भी यदि सीआईए और उसके स्टेशन चीफ आईएसआई को इस प्रकार का कृत्य करने में सक्षम मानते हैं तो इससे यह संकेत मिलता है कि विश्वास में जो कमी आई है वह अंदाजे से कहीं ज्यादा है।’

समाचार पत्र के अनुसार मौजूदा एवं पूर्व अमेरिकी खुफिया अधिकारियों ने कहा कि आईएसआई का संबंध पत्रकारों, राजनयिकों एवं अन्य संभावित विरोधियों के खिलाफ कई षड़यंत्र रचने से रहा है और आईएसआई की केल्टन से दुश्मनी है।
इस बीच सीआईए के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने वहां सेवारत अमेरिकी अधिकारियों को जहर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X