ताज़ा खबर
 

ईरान से रिहा तीन अमेरिकी कैदी जर्मनी पहुंचे

कैदियों की अदला-बदली के तहत ईरान से रिहा किए गए चार में से तीन अमेरिकी नागरिक जर्मनी पहुंच गए हैं। एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि तीनों फिलहाल एक अमेरिकी सैन्य शिविर में हैं।

Author बर्लिन | Updated: January 19, 2016 2:49 AM
ओबामा प्रशासन ने कहा कि दोनों दक्षिण एशियाई पड़ोसियों के साथ उसके रिश्ते मजबूत बने हुए हैं। (फ़ोटो-रॉयटर्स)

कैदियों की अदला-बदली के तहत ईरान से रिहा किए गए चार में से तीन अमेरिकी नागरिक जर्मनी पहुंच गए हैं। एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि तीनों फिलहाल एक अमेरिकी सैन्य शिविर में हैं। रिहा बंदी कुछ समय जिनेवा में रुकने के बाद रविवार को जर्मनी पहुंचे। विमान में सवार तीनों कैदियों में से एक वाशिंगटन पोस्ट के तेहरान संवाददाता जेसन रेजाइयां थे जिनको करीब 18 महीने पहले ईरान में हिरासत में लिया गया था। वाशिंगटन में विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया-‘हम पुष्टि कर सकते हैं कि ईरान से रिहा होने के बाद तीन अमेरिकी नागरिक जर्मनी पहुंच गए हैं।’

स्विस वायु सेना के विमान से यह समूह तेहरान से जिनेवा गया और वहां से दूसरे विमान से जर्मनी आया। स्विस विदेश मंत्रालय ने पूर्व में बताया था कि तीनों कैदियों के पास अमेरिका और ईरान की दोहरी नागरिकता है और ये लोग जर्मनी में अमेरिकी ठिकाने में जाएंगे।

अमेरिकी मीडिया के अनुसार तीनों अमेरिकी पश्चिम जर्मनी के रैमस्टीन वायु सेना स्टेशन जाएंगे जहां उनकी चिकित्सकीय जांच की जाएगी। वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक ब्रेट मैकगर्क के एक ट्वीट के अनुसार तीनों रिहा बंदी रेजाइयां, एक ईसाई पादरी सईद अबेदीनी और पूर्व अमेरिकी मरीन आमिर हकमाती हैं।

ईरान ने कैदियों की रिहाई की घोषणा पश्चिमी ताकतों के साथ तेहरान के ऐतिहासिक परमाणु समझौते के कार्यान्वयन के कुछ घंटे बाद शनिवार को की थी। वाशिंगटन ने प्रतिबंध और कारोबार पर लगी रोक का उल्लंघन करने के आरोपी सात ईरानियों को माफी दे दी थी जिसके एवज में ईरान ने इन अमेरिकी बंदियों को रिहा किया।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने वाइट हाउस से एक टीवी बयान में इन अमेरिकियों की रिहाई का स्वागत किया, लेकिन साथ ही यह भी चेताया कि क्षेत्र में उग्रवादी समूहों को समर्थन सहित ईरान सरकार की ‘अस्थिरताकारी गतिविधियों’ को लेकर अमेरिका के सामने समस्याएं बनी रहेंगी।

स्विस विदेश मंत्रालय ने बताया कि कैदियों की अदला-बदली स्विट्जरलैंड में 14 महीने तक चली गोपनीय चर्चा के बाद हुई है। वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि अदला-बदली के तहत रिहा चौथा ईरानी अमेरिकी नुसरतुल्ला खुसरावी रुदसारी है और वह अभी तेहरान में ही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X