ताज़ा खबर
 

बढ़ने वाली हैं अमेरिकी राष्ट्रपति की मुश्किलेंः अपने टॉप कमांडर की हत्या के लिए ईरान ने इंटरपोल से की ट्रंप और 47 अधिकारियों की गिरफ्तारी की मांग

ईरान के न्यायिक प्रवक्ता गुलाम हुसैन इस्माइली ने कहा कि ईरान अपने कमांडर की हत्या में शामिल रहे लोगों को सजा दिलाने के लिए गंभीर है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र तेहरान | Updated: January 6, 2021 2:12 PM
Hassan Rouhani, Donald Trumpईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप।

ईरान ने अंतरराष्ट्रीय संस्था इंटरपोल से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और अमेरिका के 47 अन्य अधिकारियों के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की मांग की है। ईरान का कहना है कि पिछले साल जनवरी में जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या की साजिश रचने में शामिल रहे ट्रंप को पकड़ने में इंटरपोल को उसकी मदद करनी चाहिए।

ईरान के न्यायिक प्रवक्ता गुलाम हुसैन इस्माइली ने कहा कि रेवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर शहीद सुलेमानी की हत्या के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति और पेंटागन (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) के कमांडर और अधिकारियों के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किए जाने चाहिए। इसके लिए इंटरपोल को चिट्ठी लिखी गई है। इस्माइली ने कहा कि ईरान अपने कमांडर की हत्या में शामिल रहे लोगों को सजा दिलाने के लिए गंभीर है।

अंतरराष्ट्रीय अपराध पुलिस संस्था के मुताबिक, उसका रेड नोटिस पूरी दुनिया में कानूनी संस्थाओं से आरोपी के प्रत्यर्पण, सरेंडर और कानूनी कार्यवाही की मांग के तौर पर देखा जाता है। इंटरपोल का कहना है कि उसका नोटिस किसी अरेस्ट वॉरंट की तरह नहीं है।

ईरान के खुफिया विभाग के मंत्री महमूद अलावी ने मंगलवार को इस मुद्दे पर कहा कि हमने अंतरराष्ट्रीय अपराध कोर्ट के लिए करीब 1000 पन्नों के दस्तावेज तैयार किए हैं, जिससे ये साबित हो जाएगा कि एक देश ने जनरल सुलेमानी को मारने की साजिश रची। अलावी ने सही समय पर दोषियों से बदला लेने की भी बात कही।

बता दें कि जनरल कासिम सुलेमानी ईरान सेना की स्पेशल फोर्सेज रेवोल्यूशन गार्ड्स की कुद्स फोर्सेज का कमांडर था। अमेरिका ने उन्हें बगदाद दौरे के बीच 3 जनवरी 2020 को ड्रोन हमलों में मार गिराया था। यूएन के अधिकारियों ने अमेरिकी हमलों को गैरकानूनी करार दिया था। ईरान ने इससे पहले पिछले साल जून में भी इंटरपोल से डोनाल्ड ट्रंप और अन्य अमेरिकी अफसरों को गिरफ्तार करने में मदद की अपील की थी। ईरान लगातार अमेरिका पर हत्या और आतंक फैलाने के आरोप लगाता रहा है।

Next Stories
1 दुबई में चोरी करने जाते हैं इजरायली पर्यटक, रिपोर्ट में दावा – बुर्ज खलीफा को भी नहीं छोड़ा, उड़ा ले गए सामान
2 ईरान-कोरिया में तनाव: तेहरान ने समुद्र में कब्जाया सऊदी से लौट रहा जहाज, सियोल से भेजे गए सैनिक
3 ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने रद्द किया भारत दौरा, गणतंत्र दिवस पर थे मुख्य अतिथि
ये पढ़ा क्या?
X