ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान ने किया अगर परमाणु हमला तो खुद को बचा नहीं सकेगा भारतः रूसी विशेषज्ञ

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने तोपीचकानोव के हवाले से बताया कि भारत की योजना 10 साल में परमाणु हथियारों और क्षमताओं को विकसित करने की है, पर यह कल्पना करना मुश्किल है कि संघर्ष की स्थिति में यह अपनी सरजमीं को बचाने में कामयाब होगा।

Author इस्लामाबाद | May 20, 2016 09:53 am
एक रूसी परमाणु विशेषज्ञ के मुताबिक यदि पाकिस्तान भारत पर परमाणु हमला करता है तो भारत खुद को बचा नहीं सकेगा। (Representative Image)

एक रूसी परमाणु विशेषज्ञ के मुताबिक यदि पाकिस्तान भारत पर परमाणु हमला करता है तो भारत खुद को बचा नहीं सकेगा। ‘कारनेजी मास्को सेंटर’ के एक कार्यक्रम में शोधार्थी पीटर तोपयीचाकनोव ने बताया कि बैलिस्टिक मिसाइल प्रणाली के विकास के लिए भारत और इस्राइल के बीच बड़े पैमाने पर सहयोग के बावजूद पाकिस्तान के परमाणु हमले से भारत खुद को नहीं बचा सकता।

Read Also: India-Pakistan Dialogue: उमर ने कहा-पाकिस्तान का बयान, PM Modi के लिए करारा झटका

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने तोपीचकानोव के हवाले से बताया कि भारत की योजना 10 साल में परमाणु हथियारों और क्षमताओं को विकसित करने की है, पर यह कल्पना करना मुश्किल है कि संघर्ष की स्थिति में यह अपनी सरजमीं को बचाने में कामयाब होगा। परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) के लिए भारत की उम्मीदवारी के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया भारत के बारे में आगाह रहेगी।

Read Also: Pakistan JIT: अरविंद केजरीवाल बोले- BJP ने भारत माता की पीठ में छुरा भोंका

उन्होंने कहा कि भारत को मिली परमाणु छूट अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए सबक का एक अहम हिस्सा है क्योंकि दिल्ली ने बदले में बहुत कुछ नहीं दिया है, इसने नीतियों और रूख को नहीं बदला। उन्होंने कहा कि भारत के साथ लंबे समय से चली आ रही साझेदारी के बावजूद रूस, इस्लामाबाद और नई दिल्ली दोनों से संबंध विकसित करता रहा है।

Read Also: इस्लामिक स्टेट ने किया लीबिया की सेना पर आत्मघाती हमला, 32 जवानों की मौत

भारत ने अपने स्वदेशी सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का ओडिशा तट से रविवार को सफलतापूर्वक परीक्षण किया है जो दुश्मन के किसी भी बैलिस्टिक मिसाइल को हवा में ही नष्ट करने में सक्षम है। इस पर पाकिस्तान ने कहा कि यह क्षेत्र में शक्ति संतुलन को बिगाड़ेगा और इसकी योजना अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस मुद्दे को उठाने की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App