ताज़ा खबर
 

भारतीय मूल की पलबिंदर कौर शेरगिल कनाडा की सुप्रीम कोर्ट में बनीं जज, पगड़ी पहनने वाली पहली सिख महिला जज हुईं

वर्ल्ड सिख आर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएसओ) ने शेरगिल की नियुक्ति का स्वागत किया है और इसे सिख समुदाय के लिए ऐतिहासिक बताया है।
Author June 24, 2017 20:49 pm
शेरगिल पहली पगड़ीधारी सिख हैं, जिन्हें कनाडा में न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। (फोटो-ANI)

भारतीय मूल की मानवाधिकार कार्यकर्ता और वकील पलबिंदर कौर शेरगिल की वेस्टमिनिस्टर स्थित सुप्रीम कोर्ट ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया में न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुई हैं। वह न्यायपालिका में नियुक्त होने वाली पगड़ी पहनने वाली पहली सिख हैं। समाचार पोर्टल वॉइस ऑनलाइन की रपट के मुताबिक, कनाडा के वर्ल्ड सिख ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएसओ) ने कहा कि शेरगिल पहली पगड़ीधारी सिख हैं, जिन्हें कनाडा में न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।

कनाडा के न्याय मंत्री तथा महान्यायवादी जोडी विल्सन-रेबुल्ड ने बीते साल 20 अक्टूबर को घोषित नए न्यायिक आवेदन प्रक्रिया के तहत शुक्रवार को पलविंदर की नियुक्ति की घोषणा की। फैसले का स्वागत करते हुए डब्ल्यूएसओ के अध्यक्ष मुखबीर सिंह ने कहा, “न्यायाधीश शेरगिल की नियुक्ति कनाडा में सिख समुदाय के लिए एक और उपलब्धि है। यह बेहद गौरवान्वित करने वाला पल है कि आज कनाडा में पहले पगड़ीधारी सिख की नियुक्ति की गई है।”

रपट के मुताबिक, नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी, क्योंकि न्यायाधीश शेरगिल ने न्यायाधीश ईए एर्नाल्ड-बेली की जगह ली है, जो 31 मई को ही सेवानिवृत्त हो चुके हैं। नियुक्ति से पहले शेरगिल अपनी कानून कंपनी शेरगिल एंड कंपनी, ट्रायल लायर्स के साथ वकील तथा मध्यस्थ के रूप में काम करती थीं। वह पूरे कनाडा में अदालतों और प्राधिकरणों के समक्ष मुकदमा लड़ चुकी हैं और उन्हें इस क्षेत्र में काफी अनुभव हासिल है।

वर्ल्ड सिख आर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएसओ) ने शेरगिल की नियुक्ति का स्वागत किया है और इसे सिख समुदाय के लिए ऐतिहासिक बताया है। इस संगठन के अध्यक्ष मुखबीर सिंह ने कहा, ‘‘यह गर्व करनेवाली बात है कि कनाडा की न्यायपालिका में पगड़ी पहनने वाली महिला पहली बार न्यायधीश बनी है।’’ डब्ल्यूएसओ ने बताया कि न्याय राज्यमंत्री और अटॉर्नी जनरल ऑफ कनाडा जोडी विल्सन रेबाउल्ड ने कल इस नियुक्ति की घोषणा की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.