ताज़ा खबर
 

भारतीय मूल के इंजीनियर को मिला अमेरिकन हेलीकॉप्टर सोसाइटी पुरस्कार

इस संस्थान ने लेफ्टीनेंट कर्नल (सेवानिवृत्त) डा अरविंद सिन्हा को वर्टिकल फ्लाइट टक्नोलॉजी के क्षेत्र में उनके शानदार करियर के लिए सम्मानित किया है।

Author Published on: April 14, 2017 8:18 PM
7758_aaसिन्हा फिलहाल आस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्रालय के इंजीनियरिंग, हेलीकॉप्टर सिस्टम्स डिवीजन और कैपेबिलिटी एक्वीजीशन ग्रुप के निदेशक पद पर आसीन हैं। (सांकेतिक फोटो)

भारतीय मूल के आस्ट्रेलियाई एयरोनॉटिक्स इंजीनियर को अमेरिकन हेलीकॉप्टर सोसाइटी (एएचएस) इंटरनेशनल की ओर से ‘विश्व के सर्वश्रेष्ठ एयरोस्पेस इंजीनियर लीडरशिप अवार्ड’ से सम्मानित किया गया है। एएचएस वर्टिकल फ्लाइट टक्नोलॉजी (लम्बवत उड़ान तकनीक एंव आधुनिकीकरण) को समर्पित विश्व का एक प्रमुख पेशेवर संस्थान है। इस संस्थान ने लेफ्टीनेंट कर्नल (सेवानिवृत्त) डा अरविंद सिन्हा को वर्टिकल फ्लाइट टक्नोलॉजी के क्षेत्र में उनके शानदार करियर के लिए सम्मानित किया है। सिन्हा ने हाल ही में अमेरिका में यह पुरस्कार प्राप्त किया। उन्हें मई 2016 में एएचएस आॅनरेरी फेलो का टाइटल भी प्रदान किया गया था। सिन्हा फिलहाल आस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्रालय के इंजीनियरिंग, हेलीकॉप्टर सिस्टम्स डिवीजन और कैपेबिलिटी एक्वीजीशन ग्रुप के निदेशक पद पर आसीन हैं।

गौरतलब है कि एक भारतीय साफ्टवेयर इंजीनियर ने संयुक्त राष्ट्र की ओपन सोर्स टूल की वैश्विक प्रतियोगिता का शीर्ष पुरस्कार जीता है। इस टूल से यूजरों को संयुक्त राष्ट्र महासभा के प्रस्तावों को प्रभावी तरीके से देखने और सदस्य देशों की मतदान प्रक्रिया को गहराई से समझने में मदद मिलेगी। अब्दुल कादिर राशिक एक व्यवसायी भी हैं। उन्होंने अपने ओपेन सोर्स टूल “ग्लोबल पॉलिसी” के लिए “यूनाइट आइडियाज हैशटैग यूएनजीए विज टेक्स्टूअल एनालिसिस एंड विजुअलाइजेशन चैलेंज” को जीता है। उनके इस प्रोटोटाइप टूल को सार्वजनिक किया जाएगा। इसे संयुक्त राष्ट्र की संस्थाओं और सदस्य देशों के साथ साझा किया जाएगा। उनके इस काम को अमेरिका के विदेश विभाग और संयुक्त राष्ट्र के सूचना व संचार प्रौद्योगिकी कार्यालय से मान्यता भी मिलेगी।

प्रतियोगिता में अर्जेंटीना के सूचना प्रौद्योगिकी सलाहकार मैक्सीमिलानो लोपेज दूसरे और फ्रांस के सूचना प्रौद्योगिकी सलाहकार थॉमस फोर्नेस तीसरे स्थान पर रहे। यूनाइट आइडिया चैलेंज में बराबर हिस्सा लेने वाले अब्दुल ने इससे पहले अपने “लिंक्स टू सस्टेनबल सिटीज” के लिए हैशटैग लिंक्स एसडीजी प्रतिस्पर्धा का शीर्ष पुरस्कार जीता था। “लिंक्स टू सस्टेनेबल सिटीज” सतत विकास लक्ष्यों की पहचान और कड़ियों का खाका खींचने में मददगार है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उत्तर कोरिया को लेकर ‘संघर्ष किसी भी क्षण छिड़ सकता है’ : चीन
2 सामाजिक न्याय के लिए लड़ाई में अंबेडकर का अनुसरण करें: संयुक्त राष्ट्र
3 पूर्व राजनयिकों ने ट्रंप प्रशासन से पाक के अंदर आतंकी गुटों को निशाना बनाने के लिए कहा
ये पढ़ा क्या...
X