ताज़ा खबर
 

प्रेमिका की खातिर पिता को रास्ते से हटाने के लिए ऑनलाइन ऑर्डर किया बम, पहुंचा जेल

इससे पहले कि वह अपने मंसूबों को अंजाम देता अंडरकवर अधिकारियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

प्रेमिका को पाने की खातिर एक लड़के ने अपने पिता को ही मारने की साजिश रची। उसने पिता को रास्ते से हटाने के लिए ऑनलाइन बम का ऑर्डर कर दिया। लेकिन इससे पहले कि वह अपने मंसूबों को अंजाम देता अंडरकवर अधिकारियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बेहद चौंकाने वाला यह मामला लंदन का है। भारतीय मूल के 19 वर्षीय गुरतेज सिंह रंधावा को अदालत ने 8 साल के लिए सलाखों के पीछे भेज दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रंधावा के सिख पिता को बेटे के एक अंग्रेज महिला के साथ संबंध रखने को लेकर एतराज था। पिता के अलावा बाकी घरवाले पिता के ही पक्ष में थे। बेटे को घरवालों की यह बात इतनी नागवार गुजरी की पिता की हत्या करने का प्लान बना लिया। पिछले साल मई में ब्रिटेन की राष्ट्रीय अपराध एजेंसी (एनसीए) के अधिकारियों ने बम की डिलीवरी होने से पहले उसे अपने कब्जे में ले लिया और उसकी जगह डमी रख दिया। इसके बाद गुरतेज को गिरफ्तार कर लिया गया। गुरतेज ने बम की डिलीवरी के लिए घर से कुछ दूर का पता दिया था। उसने एक कार बम ऑर्डर किया था और इसके लिए क्रिप्टोकरंसी (डिजिटल करंसी, भारत समेत कई देशों में यह कानूनन मान्य नहीं है) से भुगतान किया था।

बर्मिंघम क्राउन कोर्ट ने नवंबर, 2017 में गुरतेज को किसी अन्य के व्यक्ति के जीवन को जोखिम में डालने और गंभीर रूप से जख्मी करने की मंशा से विस्फोटक का इस्तेमाल करने का दोषी ठहराया था और शुक्रवार (12 जनवरी) को उसे 8 साल के लिए भेज दिया।

रंधावा को सजा सुनाने वाली जस्टिस चीमा ग्रब ने अपने फैसले के दौरान कहा- मुझे कोई शंका नहीं है कि प्रेमिका के साथ रहने और विश्वविद्याल में साथ पढ़ने के लिए तुमने यह अपराध किया। इससे तुम्हारे जीवन में ऐसा बदलाव आया कि तुमने अपने फायदे के लिए पिता की कार में बम लगाना चाहा। यह तुम्हारे हैरान करने वाले अहंकार का अपराध है। जज ने आगे कहा कि तुम होशियार हो और चीजों में फेरबदल करने की क्षमता रखते हो। तुमने अपनी प्रेमिका से अपने घरवालों खास कर अपने पिता के बारे में झूठ बोलते रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.