ताज़ा खबर
 

‘इंडियाज़ डॉटर’ डॉक्यूमेंटरी के जवाब में भारतीय ने बनाई ‘यूनाइटेड किंगडम्स डॉटर’

भारत में 16 दिसंबर, 2012 की बलात्कार की घिनौनी वारदात की घटना पर बनी बीबीसी की विवादास्पद डॉक्यूमेंटरी के जवाब में यहां एक भारतीय की ओर से बनाए गए वीडियो में दावा किया गया है कि ब्रिटेन पांचवा सर्वाधिक बलात्कार के मामलों वाला देश है, सिर्फ 10 फीसदी बलात्कारियों को ही दोषी ठहराया जाता है। […]

Author March 15, 2015 4:08 PM

भारत में 16 दिसंबर, 2012 की बलात्कार की घिनौनी वारदात की घटना पर बनी बीबीसी की विवादास्पद डॉक्यूमेंटरी के जवाब में यहां एक भारतीय की ओर से बनाए गए वीडियो में दावा किया गया है कि ब्रिटेन पांचवा सर्वाधिक बलात्कार के मामलों वाला देश है, सिर्फ 10 फीसदी बलात्कारियों को ही दोषी ठहराया जाता है।

बीबीसी की डॉक्यूमेंटरी ‘इंडियाज डॉटर’ का निर्माण लेस्ले उडविन ने किया। इसमें दिल्ली में बलात्कार की जघन्य घटना के दोषी मुकेश सिंह का साक्षात्कार था जिसको लेकर भारत में राष्ट्रवादियों में आक्रोश भड़का क्योंकि उन्हें महसूस किया कि भारत की प्रतिष्ठा धूमिल करने का प्रयास किया गया है। इसे भारत में प्रतिबंधित भी किया गया।

समाचार पत्र ‘द टेलीग्राफ’ के अनुसार बीबीसी की डॉक्यूमेंटरी के जवाब में हरविंद सिंह ने ‘यूनाइटेड किंगडम्स डॉटर’ नामक वीडियो का निर्माण किया है। वीडियो में ब्रिटेन में बलात्कार की पीड़िता महिलाओं और यौन उत्पीड़न के आंकड़ों को प्रस्तुत किया गया है।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15445 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback

इसमें कहा गया है, ‘‘विश्व में बलात्कार के मामलों के संदर्भ में बनी सूची में ब्रिटेन का पांचवां स्थान है। बलात्कार के मामलों की संख्या और अधिक है क्योंकि बहुत सारे मामलों की रिपोर्ट नहीं की जाती।’’

इस फिल्म में दावा किया गया है, ‘‘ब्रिटेन में 10 फीसदी महिलाएं यौन प्रताड़ना का सामना करती हैं लेकिन एक तिहाई ब्रिटेनवासी यह मानते हैं कि बलात्कार के लिए महिलाएं जिम्मेदार हैं।’’

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार ब्रिटेन में रोजाना औसतन 233 महिलाओं के साथ बलात्कार होता है और दोषी ठहराए जाने दर 60 फीसदी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App