ताज़ा खबर
 

स्विमिंग पूल में चार महिलाओं से छेड़छाड़, सिंगापुर में जेल भेजा गया यह भारतीय डॉक्टर

महिला ने बताया कि वह होटल के 57 वें फ्लोर पर बने स्वीमिंग पूल में थी। इस दौरान आरोपी वहीं मौजूद था और आस-पास के इलाकों की तस्वीरें ले रहा था। महिला ने बताया कि अरोड़ा अपनी पत्नी के साथ वहां मौजूद था, तभी उसने महसूस किया कि पानी में अरोड़ा उसके काफी नजदीक आ गया और उसे छुआ।

प्रतीकात्मक तस्वीर (फाइल फोटो)

अपने परिवार के साथ छुट्टियां मनाने के लिए आए एक भारतीय डॉक्टर को होटल के स्वीमिंग पूल में चार महिलाओं से छेड़खानी के आरोप में दो हफ्ते के लिए जेल भेज दिया गया। मीडिया की खबरों के मुताबिक जगदीप सिंह अरोड़ा (46) पर उनमें से दो महिलाओं के साथ छेड़खानी का आरोप लगा है जबकि दो अन्य के आरोपों पर विचार किया गया। आरोप है कि अपनी पत्नी और बेटी के साथ छुट्टियां मनाने आया अरोड़ा 28 जून को पूल में चार महिलाओं को गलत तरीके से छूने लगा। बचाव पक्ष की तरफ से अदालत में कहा गया कि अरोड़ा ने घटना के पहले शराब का सेवन किया था। अरोड़ा भारत में डॉक्टर हैं और उनकी 11 साल की एक बेटी भी है।

आरोप है कि जगदीप सिंह अरोड़ा ने 28 जून की रात 9 से साढ़े 9 बजे के बीच चार महिलाओं के कूल्हे को छुआ। पीटीआई के मुताबिक 25 साल की एक सैलानी जो कि लिथुआनिया की रहने वाली थी वो इस डॉक्टर के अभद्र रवैये की शिकार बनी। इस महिला ने बताया कि वह होटल के 57 वें फ्लोर पर बने स्वीमिंग पूल में थी। इस दौरान आरोपी वहीं मौजूद था और आस-पास के इलाकों की तस्वीरें ले रहा था। महिला ने बताया कि अरोड़ा अपनी पत्नी के साथ वहां मौजूद था, तभी उसने महसूस किया कि पानी में अरोड़ा उसके काफी नजदीक आ गया और उसे छुआ। इसके बाद महिला ने पूरी वारदात अपने पति को बताई जिसने घटना की जानकारी सिक्युरिटी को दी। दावा किया गया कि साढ़े 9 बजे ऐसी ही घटना 20 साल की एक कोरियाई युवती के साथ हुई। ये लड़की अपने एक दोस्त के साथ पूल में थी। आरोप है कि जब वह पानी के अंदर थी तो अरोड़ा उसके नजदीक आया और उसके पेट को छुआ।

लड़की का आरोप है कि अरोड़ा थोड़ी देर बाद चला गया। लेकिन वह थोड़ी देर बाद फिर लौटा और उसके कूल्हों को छुआ। इस दौरान आरोपी ने उसके दोस्त के कूल्हों को भी छूने की कोशिश की। रिपोर्ट के मुताबिक उसने एक चौथी महिला को भी छुआ। अदालत में बचाव पक्ष ने कहा कि अपराध करने से पहले अरोड़ा ने शराब भी पी थी। बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि आरोपी ने मान लिया है कि उसे घोर गलती की है। बचाव पक्ष के वकील ने यह भी कहा कि भारत में उसका कोई आपराधिक इतिहास नहीं रहा है, और उसके द्वारा कानून तोड़ने की ये पहली घटना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App