ताज़ा खबर
 

35 साल में पहली बार पत्रकारों के डिनर से गायब रहे अमेरिकी राष्‍ट्रपति, NRI कॉमेडियन ने उड़ाया ट्रंप का मजाक

मिन्हाज के माता पिता उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के रहने वाले हैं।

Author April 30, 2017 5:16 PM
युवा कामेडियन ने रूस के लोगों के साथ ट्रंप की कथित निकटता, मीडिया पर उनके हमले और प्रचार अभियान के दौरान उनके द्वारा प्रयुक्त कई वाक्यों का मजाक बनाया।

भारतीय अमेरिकी हास्य कलाकार हसन मिन्हाज ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का मजाक बनाते हुए कहा कि ऐसी आजादी केवल अमेरिका जैसे देश में है क्योंकि यह इसके संविधान में दी गई अभिव्यक्ति की आजादी के लिए प्रतिबद्ध है। मिन्हाज (31) ने वार्षिक ‘व्हाइट हाउस करेसपोन्डेंट्स डिनर’ (डब्ल्यूएचसीडी) में यादगार मनोरंजक भाषण दिया। इस सालाना सम्मलेन में 1981 के बाद पहली बार ऐसा हुआ कि अमेरिकी राष्ट्रपति इसमें शामिल नहीं हुए। मिन्हाज के माता पिता उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के रहने वाले हैं। युवा कामेडियन ने रूस के लोगों के साथ ट्रंप की कथित निकटता, मीडिया पर उनके हमले और प्रचार अभियान के दौरान उनके द्वारा प्रयुक्त कई वाक्यों का मजाक बनाया। उन्होंने ट्रंप का मजाक बनाते हुए कहा, ‘‘ट्रंप ने देर रात तीन बजे ट्वीट किया ‘सोबर’ (शांति)। देर रात तीन बजे ‘सोबर’ ट्वीट कौन करता है? क्योंकि रूस में सुबह के दस बजे हैं। वहां ये कामकाजी घंटे हैं।’’ मिन्हाज ने ट्रंप प्रशासन के कई शीर्ष अधिकारियों का भी मजाक बनाया।

अपने प्रशासन के पहले 100 दिन पूरा करने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कथित रूप से ‘‘झूठी खबरों’’ से लोगों को गुमराह करने पर मीडिया पर हमला किया और साथ ही वह राजधानी में आयोजित व्हाइट हाउस पत्रकारों के वार्षिक भोज से नदारद रहे। ट्रंप ने पेनसिलवेनिया के हैरिसबर्ग में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैं वाशिंगटन की कीचड़ से एक सौ मील से ज्यादा दूर रह कर, आप सब के साथ, ज्यादा, बहुत ज्यादा बड़े हुजूम और ज्यादा, बहुत ज्यादा अच्छे लोगों के साथ अपनी शाम गुजार कर शायद ज्यादा उत्साहित हूं।’’ उन्होंने कहा कि मीडिया को विफलता का एक बहुत बड़ा ग्रेड मिलना चाहिए।

ट्रंप ने वाशिंगटन के एक आलीशान होटल में आयोजित हो रही मीडिया और हालीवुड सितारों की पार्टी का जिक्र करते हुए कहा कि ये एक दूसरे को सांत्वना दे रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘वे व्हाइट हाउस पत्रकारों के भोज के लिए एक जगह जमा हुए हैं, बिना राष्ट्रपति के।’’ यह तीन दशक में पहला मौका है जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने उन पत्रकारों के वार्षिक कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का फैसला किया है जो उन्हें 24 घंटे कवर करते हैं। राष्ट्रपति के फैसले के समर्थन में व्हाइट हाउस का कोई स्टाफ कार्यक्रम में शामिल नहीं हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App