ताज़ा खबर
 

भारत पश्चिम एशिया, उत्तर अफ्रीका पर अधिक ध्यान केंद्रित करेगा: सुषमा

मिस्र के पहले दौरे पर पहुंची विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि भारत के राष्ट्रीय हितों के लिए पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका का महत्व बढ़ रहा है तथा नयी दिल्ली करीबी सहयोग और मजबूत साझीदारी के जरिए इस क्षेत्र पर अधिक ध्यान केंद्रित करेगा। भारतीय समुदाय को भारत में निवेश का न्यौता […]

Author August 25, 2015 5:00 AM

मिस्र के पहले दौरे पर पहुंची विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि भारत के राष्ट्रीय हितों के लिए पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका का महत्व बढ़ रहा है तथा नयी दिल्ली करीबी सहयोग और मजबूत साझीदारी के जरिए इस क्षेत्र पर अधिक ध्यान केंद्रित करेगा।

भारतीय समुदाय को भारत में निवेश का न्यौता देते हुए सुषमा ने कहा कि ‘भारतीय व्यापार मंच’ (आईबीएफ) को ऐसे मंच के तौर पर तैयार किया गया है जो ‘ब्रांड इंडिया’ को बढ़ावा दे और यहां सभी भारतीय कंपनियों के कारोबारी हितों में इजाफा कर सके।

सुषमा ने यहां भारतीय समुदाय की ओर से बीती रात आयोजित स्वागत समारोह में कहा, ‘‘खाड़ी के इस क्षेत्र और पश्चिम एशिया एवं उत्तरी अफ्रीका का महत्व हमारे राष्ट्रीय हितों के परिदृश्य में बढ़ रहा है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह क्षेत्र न सिर्फ 70 लाख भारतीयों का निवास है, बल्कि यह हमारी ऊर्जा सुरक्षा, संसाधन और निश्चित तौर पर हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है। हम इस क्षेत्र पर अधिक ध्यान देना जारी रखेंगे और निकट सहयोग एवं मजबूत साझीदारी स्थापित करना चाहेंगे।’’

विदेश मंत्री ने भारतीय समुदाय को देश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने व्यापार बढ़ाने और भारत को वैश्विक विनिर्माण केंद्र बनाने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत में आर्थिक और राजनीतिक दोनों मोर्चों पर ‘‘अद्भुत बदलाव’’ हो रहा है तथा नरेंद्र मोदी सरकार देश को ‘‘नयी ऊंचाइयों’’ पर ले जाने को संकल्पबद्ध है।

भारतीय समुदाय से ‘‘भारत की तरक्की की कहानी’’ का हिस्सा बनने की अपील करते हुए सुषमा ने कहा, ‘‘हम सुशासन, पारदर्शिता, समावेशी और सतत वृद्धि के प्रति संकल्पबद्ध हैं तथा हम सरकार के रूप में तीव्र आर्थिक विकास के युग में रास्ता बना रहे हैं । हमारे देश में व्यवसाय को लेकर सकारात्मक और आशावादी भावना है।’’

विदेश मंत्री ने कहा कि भारत के बारे में सोच और धारणा बदल चुकी है क्योंकि मोदी सरकार ने तीव्र आर्थिक विकास सुनिश्चित करने के लिए पिछले 15 महीनों में ‘‘इच्छाशक्ति और संकल्प’’ दिखाया है। सुषमा ने कहा, ‘‘हमने विदेश मामलों में भी बड़ी सफलता अर्जित की है। भारत की महानता की अब एक मजबूत गूंज है और हमारे मित्रों का दायरा बढ़ गया है।’’

प्रवासी भारतीय समुदाय को भारत के रूपांतरण का ‘‘अविभाज्य’’ हिस्सा बताते हुए सुषमा ने उनसे अपील की कि वे भारत सरकार के विकास एजेंडे को आगे ले जाने के लिए उसके साथ हाथ मिलाएं।

सुषमा ने विश्व की सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी के साथ विनिर्माण को बढ़ावा देने के ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम सहित सरकार की विभिन्न पहलों को रेखांकित किया। उन्होंने कहा, ‘‘भारत से बाहर, खासकर इस क्षेत्र में, हमारे नागरिकों का कल्याण हमारी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। हम अपने प्रवासी समुदाय की चिंताओं को दूर करने के लिए सभी साझीदारों के साथ सक्रियता से काम कर रहे हैं।’’

विदेश मंत्री ने मिस्र की जेल में 22 और 16 वर्ष काट चुके दो भारतीय कैदियों को भारत वापस भेजने के मिस्र के अधिकारियों के फैसले पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा, ‘‘वे अब जल्द घर लौट सकेंगे।’’

सुषमा ने कहा कि खाड़ी और उत्तरी अफ्रीका भारत की ऊर्जा सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने क्षेत्र के देशों और भारत के बीच मजबूत संबंध सुनिश्चित करने में योगदान के लिए समुदाय की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक बड़ा ‘‘जनादेश’’ मिला और उनकी सरकार अब लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए अथक रूप से काम कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App