ताज़ा खबर
 

आतंकवाद के ख़िलाफ़ एकजुट भारत-अमेरिका-अफ़ग़ानिस्तान, तीनों मुल्कों ने की आपसी हितों की पुष्टि

वोहरा, करजई और ओल्सन ने अफगानिस्तान में स्थिति तथा परस्पर हित के क्षेत्रीय मुद्दों पर अपने विचारों का आदान प्रदान किया।

Author न्यूयॉर्क | September 22, 2016 16:27 pm
संयुक्त राष्ट्र। (फाइल फोटो)

भारत, अमेरिका और अफगानिस्तान ने आतंकवाद का मुकाबला करने और क्षेत्र में शांति तथा सुरक्षा को मजबूत करने में अपने साझा हितों की पुष्टि की तथा अफगान सरकार की प्राथमिकताओं के साथ इस युद्ध प्रभावित देश में समन्वय एवं सहायता के लिए रास्ते भी तलाशे। अफगानिस्तान में भारतीय राजदूत मनप्रीत वोहरा, अफगान उप विदेश मंत्री हिकमत करजई और अफगानिस्तान तथा पाकिस्तान के लिए विशेष अमेरिकी प्रतिनिधि रिचर्ड ओल्सन ने बुधवार (21 सितंबर) को 71वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा से अलग त्रिपक्षीय विचार विमर्श के दौर के लिए मुलाकात की।

वोहरा, करजई और ओल्सन ने अफगानिस्तान में स्थिति तथा परस्पर हित के क्षेत्रीय मुद्दों पर अपने विचारों का आदान प्रदान किया। बैठक के बाद जारी एक त्रिपक्षीय बयान में कहा गया ‘क्षेत्र में शांति और सुरक्षा को मजबूत करने और आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए साझा हितों की पुष्टि की गई। सभी पक्षों ने क्षेत्रीय पहलू सहित अफगानिस्तान में राजनीतिक, आर्थिक और विकास लक्ष्यों पर केंद्रित बहसों का स्वागत किया।’ इस बयान में कहा गया है कि बैठक ने भारत और अमेरिका की सरकारों को अफगान सरकार की प्राथमिकता के अनुसार, उनके साथ समन्वय करने और सहायता देने के उपायों की खोज करने के लिए एक फोरम मुहैया कराया।

बयान में कहा गया है ‘तीनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि साझा मूल्यों और लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में बातचीत मदद करती है। उन्होंने नियमित आधार पर इस विचार विमर्श को जारी रखने का फैसला किया।’ पिछले सप्ताह अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी भारत आए थे। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, कौशल विकास, महिला अधिकारिता, ऊर्जा, अवसंरचना एवं लोकतांत्रिक संस्थानों को मजबूत बनाने जैसे क्षेत्रों में क्षमता एवं क्षमतानिर्माण के लिए आवश्यकओं को पूरा करने की खातिर अफगानिस्तान को एक अरब डॉलर का आवंटन करने का ऐलान किया था।

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने पिछले माह अपने भारत दौरे में कहा था कि वॉशिंगटन नई दिल्ली और काबुल के साथ वर्ष 2013 में बाधित हुई त्रिपक्षीय वार्ताओं को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से अलग शुरू करेगा। पूर्व में राष्ट्रीय राजधानी में संपन्न दूसरी भारत अमेरिका रणनीतिक एवं वाणिज्यिक वार्ता के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था ‘तेजी से बदलते क्षेत्रीय और वैश्विक हालात के मद्देनजर भारत इस साल अफगानिस्तान के साथ त्रिपक्षीय बैठक बहाल करने, अफ्रीका पर तथा बहुपक्षीय मुद्दों पर विचार विमर्श करने के लिए उत्सुक है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App