चीन, PAK से तनातनी के बीच भारत-अमेरिका 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक, दिल्ली पहुंचे माइक पोम्पिओ

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ जारी विवाद और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में बढ़ते चीनी सैन्य दबदबे के बीच यह उच्च स्तरीय वार्ता हो रही है। इस बैठक में दोनों ही मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है।

Mike Pompeo, Mark Esper, india us relation, indian ocean, china
अमेरिका के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री भारत दौरे पर आए हैं। (AP Photo/Patrick Semansky, File)

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ भारत के साथ तीसरी 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक के लिए नई दिल्ली पहुंच गए हैं। बता दें कि दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच यह बैठक मंगलवार को नई दिल्ली में होगी। बैठक के दौरान दोनों पक्षों के हिंद-प्रशांत क्षेत्र में द्विपक्षीय रक्षा संबंधों और सुरक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा करने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि चीन हिंद प्रशांत क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश में जुटा है। ऐसे में इस बैठक के मायने काफी बढ़ गए हैं। अमेरिका में तीन नवम्बर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले यह बैठक खास मानी जा रही है। पोम्पिओ ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘ भारत, श्रीलंका, मालदीव और इंडोनेशिया की अपनी यात्रा के लिए रवाना हो गया हूं। हिंद-प्रशांत को स्वतंत्र एवं मुक्त, मजबूत तथा समृद्ध बनाने के साझा दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के लिए हमारे भागीदारों के साथ जुड़ने का अवसर पाकर आभारी हूं।’’

पोम्पिओ के साथ अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर भी भारत पहुंचेंगे। अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ अपने भारतीय समकक्षों क्रमश: राजनाथ सिंह तथा एस. जयशंकर के साथ 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक करेंगे।

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ जारी विवाद और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में बढ़ते चीनी सैन्य दबदबे के बीच यह उच्च स्तरीय वार्ता हो रही है। इस बैठक में दोनों ही मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है।

चीन के बढ़ते सैन्य युद्धाभ्यास की पृष्ठभूमि में भारत, अमेरिका और कई अन्य विश्व शक्तियां स्वतंत्र, मुक्त तथा सम्पन्न हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर जोर दे रहे हैं।

अपडेट