ताज़ा खबर
 

जर्मन पुलिस ने भारतीय मूल की मां से कहा, स्तन निचोड़ कर साबित करो स्तनपान कराती हो

महिला ने बताया कि गुरुवार को वह पेरिस की एक उड़ान में सवार होने के लिए जा रहीं थी, तभी सुरक्षा जांच केन्द्र पर उन्हें रोक दिया गया।

Author बर्लिन | January 31, 2017 10:33 PM
German Police LACTATE, Indian Mother LACTATE, gayatri bose Singapore, German Police Mother LACTATE, Frankfurt airport Indian Motherफ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे का टर्मिनल 3 (फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे आधिकारिक वेबसाइट)

भारतीय मूल की एक सिंगापुरी महिला ने कहा है कि फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर जर्मन पुलिस ने उनसे स्तन निचोड़ कर साबित करने को कहा कि वह बच्चे को स्तनपान कराती हैं। बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार तीन साल के बच्चे और सात माह के एक शिशु की मां गायत्री बोस ने कहा कि उन्होंने जर्मन पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई है जिसमें उसने आरोप लगाया है कि हवाई अड्डा सुरक्षा ने उन्हें यह साबित करने के लिए अपना स्तन निचोड़ने को कहा कि वह स्तनपान कराती हैं। एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में मैनेजर की जिम्मेदारी निभा रही गायत्री ने बीबीसी से कहा कि इस घटना से वह ‘अपमानित’ और ‘बेहद स्तब्ध’ हुईं और वह औपचारिक कानूनी कार्रवाई की संभावना तलाश करेंगी।

उन्होंने कहा कि फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर पुलिस को उसपर संदेह था क्योंकि उसके पास ‘ब्रेस्ट पंप’ था लेकिन वह शिशु के बगैर यात्रा कर रही थीं। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार जर्मन पुलिस ने इन विशिष्ट आरोपों पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन उन्होंने कहा कि यह ‘स्पष्ट रूप से’ उनकी नियमित प्रक्रिया का हिस्सा नहीं हैं। गायत्री अकेले यात्रा कर रही थीं। उन्होंने बताया कि गुरुवार को वह पेरिस की एक उड़ान में सवार होने के लिए जा रहीं थी, तभी सुरक्षा जांच केन्द्र पर उन्हें रोक दिया गया। उनके बैग में उनका ‘ब्रेस्ट पंप’ था। इसके बाद उन्हें पूछताछ के लिए अलग ले जाया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हाफिज सईद का दावा, मेरी गिरफ्तारी से कश्मीरियों के संघर्ष को मिलेगी नई प्रेरणा
2 पाकस्‍तानी सेना ने हाफिज सईद की नजरबंद को बताया राष्‍ट्रहित, कहा- हम भारत से जंग नहीं चाहते
3 ब्रिटेन में डोनाल्‍ड ट्रंप राजकीय यात्रा रोकने के लि‍ए 15 लाख लोगों ने साइन किया पिटीशन, संसद में भी हुई बहस
ये पढ़ा क्या ?
X