ताज़ा खबर
 

नवंबर के राष्ट्रपति चुनाव में अमेरिकी संसद में आ सकते हैं भारतीय मूल के नेता

सीनेट में कैलीफोर्निया की अटार्नी जनरल कमला हैरिस का प्रवेश लगभग तय है और वह अमेरिकी सीनेट में चुनी जाने वाली भारतीय मूल की पहली नेता बन सकती हैं।

Author वॉशिंगटन | June 9, 2016 3:55 PM
बुधवार (8 जून) को वॉशिंगटन में यूए कांग्रेस के संयुक्त बैठक को संबोधित करते भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (पीटीआई फोटो)

प्राइमरी चुनाव के नतीजों के संकेत के अनुसार नवंबर के आम चुनाव के बाद अमेरिकी संसद में भारतीय मूल के कुछ सांसद शामिल हो सकते हैं। अकेले कैलिफोर्निया प्रांत में भारतीय मूल के तीन अमेरिकी नेता प्राइमरी चुनाव सर कर चुके हैं। संसदीय चुनाव में जीत की हैट्रिक बनाने की कोशिश कर रहे अमी बेरा प्रतिनिधिसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। रो खन्ना भी प्रतिनिधिसभा की दावेदारी कर रहे हैं। उनका मुकाबला इस बार भी माइक होंडा से होगा जो प्रतिनिधिसभा के सदस्य हैं।

इस बीच, राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि सीनेट में कैलीफोर्निया की अटार्नी जनरल कमला हैरिस का प्रवेश लगभग तय है और वह अमेरिकी सीनेट में चुनी जाने वाली भारतीय मूल की पहली नेता बन सकती हैं। बेरा, खन्ना और हैरिस तीनों ही डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता है। प्रतिनिधिसभा की सीट के लिए चुनावी जंग में भारतीय मूल के दो और अमेरिकी नेता है। इनमें से एक राजा कृष्णामूर्ति इलिनायस के हैं और दूसरी प्रमिला जयपाल सिएटल से हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

बेरा ने कहा, ‘उम्मीद है कि अगले साल कांग्रेस में अन्य भी मेरे साथ शामिल होंगे।’ फिलहाल, बेरा अमेरिकी संसद में भारतीय मूल के अकेले सांसद हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं देख सकता हूं कि दो, तीन और यहां तक कि चार का अच्छा मौका है। हम भारतीय मूल का पहला अमेरिकी सीनेटर चुन पाएंगे। हमें चार, पांच सदस्य मिल सकते हैं।’ बेरा ने कहा, ‘राजा कृष्णामूर्ति की अच्छी उम्मीद है। स्वाभाविक रूप से रो खन्ना को कड़े मुकाबले का सामना करना पड़ सकता है। सिएटल में प्रमिला जयपाल के और कमला हैरिस के सीनेट में जीतने की उम्मीद है। इस तरह यह हमारे लिए अच्छा साल हो सकता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App