ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप बोले- भारत बहुत टैक्‍स लगाता है, जवाब में हम भी उतना ही वसूलेंगे

उन्होंने इसके बाद अमेरिका के सांसदों के जवाब का मजाक उड़ाते हुए कहा, ‘‘महाशय, यह मुक्त व्यापार नहीं चलेगा। कहां से आये हैं ये लोग? कहां से आते हैं ये लोग? मुझे आपकी मदद चाहिये, मुझे आपकी मदद चाहिये, मतदाताओं की मदद।’’

Author March 4, 2019 11:58 AM
indo us relations,Narendra Modi,white house,Free trade,Donald Trump,India,George Washington,Tariffs, international news, hindi newsअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी। (फोटोः एजेंसियां)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को ऊंची दर से शुल्क लगाने वाला देश बताया है। अपने समर्थकों से शनिवार को उन्होंने कहा कि वह अमेरिका में आने वाले सामानों पर परस्पर बराबर शुल्क या कम से कम कोई शुल्क लगाना चाहते हैं। ट्रंप ने यहां मैरीलैंड उपनगर में कंजर्वेटिव पॉलिटिकल एक्शन कॉन्फ्रेंस (सीपीएसी) को संबोधित करते हुए अपनी निंदा करने वालों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने दो घंटे से अधिक समय का भाषण दिया। राष्ट्रपति बनने के बाद उनका यह सबसे लंबा भाषण रहा।

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार के मोर्चे पर अस्थायी युद्धविराम के बीच ट्रंप ने कहा, ‘‘भारत काफी ऊंची दर से शुल्क लगाने वाला देश है। वे हमसे काफी शुल्क वसूलते हैं।’’ ट्रंप ने अपने भाषण में इस दौरान भारत जैसे देशों के साथ घरेलू, वैश्विक और द्विपक्षीय संबंधों समेत विभिन्न मुद्दों पर बात की।ट्रंप ने अमेरिका की हर्ले-डेविडसन मोटरसाइकिल का उदाहरण देते हुए कहा, ‘‘जब हम भारत को मोटरसाइकिल भेजते हैं तो उस पर वहां 100 प्रतिशत का शुल्क लगाया जाता है। वे हमसे 100 प्रतिशत शुल्क लेते हैं लेकिन जब भारत हमें मोटरसाइकिल भेजता है तब हम उनसे कुछ भी शुल्क नहीं लेते हैं।’’

ट्रंप ने कहा, ‘‘इसीलिए मैं परस्पर बराबर कर चाहता हूं या फिर कोई न कोई शुल्क लगाना चाहता हूं। यह मिरर टैक्स (एक-दूसरे के अनुरूप शुल्क) होगा लेकिन दोनों तरफ से होगा।’’ इस साल की शुरुआत में व्हाइट हाउस में आयोजित एक कार्यक्रम में पारस्पारिक तौर पर शुल्क लगाने का समर्थन करते हुए ट्रंप ने कहा कि वह भारत के हर्ले-डेविडसन मोटरसाइकिल पर शुल्क को 100 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत करने से संतुष्ट हैं।

छिड़ने वाली है जंग?

उन्होंने कहा था, ‘‘हालांकि, यह कटौती पर्याप्त नहीं है लेकिन फिर भी ठीक है।’’ ट्रंप ने शनिवार को कहा कि वह भारत को सिर्फ उदाहरण के तौर पर पेश कर रहे हैं ताकि बताया जा सके कि अन्य देश किस तरह से अमेरिकी उत्पादों पर शुल्क लगा रहे हैं। अब समय आ गया है कि अमेरिका भी परस्पर बराबर जवाबी शुल्क लगाए। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘भारत ऊंची दर से शुल्क लगाने वाला देश है और वे काफी शुल्क लगाते हैं। वह 100 प्रतिशत का शुल्क लगाते हैं। हालांकि, मैं आपसे 100 प्रतिशत शुल्क नहीं लेने जा रहा हूं लेकिन मैं 25 प्रतिशत का शुल्क लगाने जा रहा हूं। इस कदम पर संसद में हंगामा हो रहा है क्योंकि हम 25 प्रतिशत का शुल्क लगाने जा रहे हैं।’’ ट्रंप ने अपने समर्थकों को बताया कि संसद में उनके इस कदम का विरोध हो रहा है।

उनके मुताबिक, ‘‘100 प्रतिशत के जवाब में लगना तो 100 ही प्रतिशत शुल्क चाहिये लेकिन आपकी वजह से मैं 25 प्रतिशत ही लगा रहा हूं।’’ उन्होंने इसके बाद अमेरिका के सांसदों के जवाब का मजाक उड़ाते हुए कहा, ‘‘महाशय, यह मुक्त व्यापार नहीं चलेगा। कहां से आये हैं ये लोग? कहां से आते हैं ये लोग? मुझे आपकी मदद चाहिये, मुझे आपकी मदद चाहिये, मतदाताओं की मदद।’’ ट्रंप ने आगे कहा कि अमेरिका किसी भी देश को उस उत्पाद पर 100 प्रतिशत शुल्क लगाने की अनुमति नहीं दे सकता है जिस पर उसे कुछ नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका इतनी तेजी से आगे बढ़ रहा है जैसा पहले कभी नहीं बढ़ा था। अन्य देशों की स्थिति ठीक नहीं है।’’

Next Stories
1 पाकिस्‍तान का एक और दावा निकला झूठा, भारत पर केस करने नहीं जा रही F-16 बनाने वाली कंपनी
2 सऊदी अरब ने छीनी ओसामा के बेटे की नागरिकता, हमजा बिन लादेन पर अमेरिका ने रखा 7 करोड़ रुपए का इनाम
3 पाक विदेश मंत्री का कबूलनामा: मसूद अजहर के संपर्क में है इमरान सरकार
यह पढ़ा क्या?
X