scorecardresearch

उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण पर भारत ने की निंदा, कहा- इससे शांति एवं सुरक्षा प्रभावित होगी

संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने बुधवार को हुई बैठक में कहा, ‘‘हमने बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपण की चिंताजनक खबरों पर गौर किया है। ये प्रक्षेपण डीपीआरके से संबंधित सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन है।”

उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण पर भारत ने की निंदा, कहा- इससे शांति एवं सुरक्षा प्रभावित होगी
4 अक्टूबर, 2022 को उत्तरी जापान के साप्पोरो, होक्काइडो में जापान के ऊपर से उत्तर कोरियाई बैलिस्टिक मिसाइल को उड़ाते हुए दिखाता विशाल मॉनिटर। (Photo- Kyodo News via AP)

जापान के ऊपर से मंगलवार को मध्यम दूरी की एक बैलिस्टिक मिसाइल दागने पर भारत ने उत्तर कोरिया की कड़ी निंदा की है। यह मिसाइल जापान के ऊपर से गुजरते हुए प्रशांत महासागर में जा गिरी। उत्तर कोरिया ने पांच साल में पहली बार ऐसा मिसाइल प्रक्षेपण किया है, जिसमें मिसाइल जापान के ऊपर से गुजरी हो। भारत ने कहा कि इस तरह के प्रक्षेपण क्षेत्र और उससे इतर भी शांति एवं सुरक्षा को प्रभावित करते हैं। इससे पहले अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने भी इस पर चिंता जताते हुए इसकी निंदा की थी।

संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) को लेकर बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में हुई बैठक में कहा, ‘‘हमने बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपण की चिंताजनक खबरों पर गौर किया है। ये प्रक्षेपण डीपीआरके से संबंधित सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन है और वे क्षेत्र और उससे आगे की शांति और सुरक्षा को प्रभावित करते हैं।’’

भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों पर पूरी तरह से अमल करने का आह्वान किया

उन्होंने कहा, ‘‘इस प्रक्षेपण से पहले इस साल मार्च में डीपीआरके ने अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल और उसके बाद कई अन्य प्रक्षेपण किए, जिस पर इस परिषद में चर्चा की गई थी।’’ भारत ने डीपीआरके से संबंधित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रासंगिक प्रस्तावों के पूर्ण कार्यान्वयन का आह्वान किया और “हमारे क्षेत्र में डीपीआरके से संबंधित परमाणु और मिसाइल प्रौद्योगिकियों के प्रसार को देखने के महत्व को दोहराया। इन संबंधों का भारत सहित क्षेत्र में शांति और सुरक्षा पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।”

बाद में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत लिंडा थॉमस-ग्रीनफील्ड ने अल्बानिया, ब्राजील, फ्रांस, भारत, आयरलैंड, जापान, नॉर्वे, दक्षिण कोरिया, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ब्रिटेन और अमेरिका की ओर से एक संयुक्त बयान जारी किया।

उत्तर कोरिया ने इसी साल में अब तक 35 से अधिक बैलिस्टिक मिसाइलों का प्रक्षेपण किया है

बयान में कहा गया है, ‘‘अमेरिका, अल्बानिया, ब्राजील, फ्रांस, भारत, आयरलैंड, जापान, नॉर्वे, कोरिया गणराज्य, यूएई और ब्रिटेन डीपीआरके द्वारा चार अक्टूबर को किए गए लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल के प्रक्षेपण की कड़ी निंदा करते हैं।’’ बयान में कहा गया है कि ये देश उत्तर कोरिया द्वारा 25 सितंबर से किए गए सात अन्य बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपणों की भी निंदा करते हैं। उत्तर कोरिया ने केवल इसी साल में अब तक 35 से अधिक बैलिस्टिक मिसाइलों का प्रक्षेपण किया है।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 06-10-2022 at 04:45:00 pm
अपडेट