ताज़ा खबर
 

आतंकवाद से लड़ने के लिए खुफिया सूचनाएं साझा करें देश: भारत

भारत ने पेरिस में हुए भयावह हमलों को देखते हुए सभी देशों से अधिक खुफिया सूचनाएं साझा करने की अपील की है। भारत ने उम्मीद जताई है कि दुनिया आतंकवाद..
Author लॉस एंजिलिस | November 17, 2015 14:55 pm

भारत ने पेरिस में हुए भयावह हमलों को देखते हुए सभी देशों से अधिक खुफिया सूचनाएं साझा करने की अपील की है। भारत ने उम्मीद जताई है कि दुनिया आतंकवाद के खतरे के खिलाफ एकजुट होगी। विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने क्षेत्रीय प्रवासी भारतीय दिवस के इतर यहां संवाददाताओं से कहा, ‘भारत ने हमेशा कहा है कि आतंकवाद और आतंकवाद से संबंधित हर चीज (दुनिया के लिए) एक खतरा है। भारत ने हमेशा कहा है कि किसी को भी आतंकवाद को सरकारी नीति के तौर पर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।’ इस दो दिवसीय समारोह में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की जगह भाग ले रहे सिंह ने कहा कि भारत आतंकवाद के प्रसार को लेकर चिंतित है, फिर भले ही यह प्रसार भारत में हो या दुनिया के किसी और हिस्से में। सुषमा स्वराज को पेरिस में हुए आतंकवादी हमलों के मद्देनजर बीच रास्ते में ही दुबई से नई दिल्ली लौटना पड़ा।

सिंह ने कहा, ‘हम फ्रांस में हुए हमले की गंभीरता से निंदा करते हैं। हमें उम्मीद है कि इस प्रकार के खतरे के खिलाफ लड़ने के लिए हर कोई एकजुट होगा।’ उन्होंने पेरिस हमलों और मुंबई हमलों से इसकी समानता के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा, ‘मुंबई हमले पूरी दुनिया के लिए एक सबक थे कि ऐसी चीजें हो सकती हैं और हम उस समय से जो बात कह रहे हैं, वे अब सही साबित हो रही हैं।’

सिंह ने कहा, ‘सभी देशों के बीच खुफिया सूचनाओं का ज्यादा आदान-प्रदान होना चाहिए ताकि हम बाकी विश्व में इस तरह की कोई घटना होने से रोक सकें।’ उन्होंने कहा कि पूरे प्रयासों के बावजूद आतंकियों को ऐसे हमले करने से रोकना असंभव है। उन्होंने कहा, ‘आप एक साल में 365 दिन काम कर सकते हैं। लेकिन आतंकवादी इन्हीं में से एक दिन निकाल लेंगे। उस दिन किसी को नहीं पता कि आपकी सुरक्षा चाक चौबंद होगी या नहीं। इस प्रकार की चीजों के खिलाफ लड़ना बेहद मुश्किल काम है। इसीलिए दुनिया के सभी देशों के बीच इस मामले में गहन सहयोग की जरूरत है।’ जब उनसे पाकिस्तान की ओर से प्रायोजित आतंकवाद पर सवाल पूछा गया तो सिंह ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। जब उनसे पाकिस्तानी सेना प्रमुख राहिल शरीफ की अमेरिका यात्रा के बारे में विशेष तौर पर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह अमेरिका को तय करना है कि उसके राष्ट्रहित में क्या है।

सिंह ने कहा, ‘अमेरिका विश्व के सभी देशों से संबंध बनाकर रखता है। वह अपनी सरकारी नीति के अनुरूप अन्य देशों से संबंध रखता है। मैं इस बात को लेकर काफी आश्वस्त हूं कि अमेरिका पाकिस्तान में चल रही चीजों को लेकर पूरी तरह जागरूक है। मुझे यकीन है कि वे अपनी नीतियों के मुताबिक पाकिस्तान से निपटने के लिए कार्रवाई का एक ऐसा तरीका अपनाएंगे, जो उन्हें उचित लगेगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.