ताज़ा खबर
 

तालिबानी हैवानियत: खींचकर घर से बाहर लाए, आंखें निकाली और फिर छाती फाड़कर दिल निकाल लिया

अफगानिस्‍तान के सुदूर इलाकों में तालिबान की हैवानियत का नया मामला सामने आया है। यहां की आदिवासी संस्कृति में अब तालिबानी लड़ाके जहर घोल रहे हैं।

Author नई दिल्‍ली | June 12, 2016 2:02 PM
अहमद की मौत पिछले 6 महीनों में हुई हिंसक वारदातों की सबसे ताजा घटना है। (EXPRESS FILE PHOTO)

अफगानिस्‍तान के घोर राज्‍य में फजल अहमद नाम के एक शख्‍स के साथ तालिबान द्वारा बर्बरतापूर्ण रवैया अपनाने के आरोप लगे हैं। राज्‍य के स्‍थानीय अधिकारियों के अनुसार, अहमद के किसी दूर के रिश्‍तेदार पर पूर्व तालिबानी कमांडर को मारने का शक था। आतंकवादी उसे घर से खींचकर बाहर ले आए और बदला लेने के लिए उसकी आंखें निकाल लीं।

अह‍मद तब जिंदा था और चीख रहा था, जब हमलावरों ने उसकी छाती की त्‍वचा काटनी शुरू कर दी। उन्‍होंने उसका दिल बाहर निकल लिया। उसके बाद 21 साल के फजल को एक चट्टान से नीचे धकेल दिया गया।

READ ALSO: 1500 इंजीनियरों की कड़ी मेहनत, 1700 करोड़ लागत, जानें क्‍यों खास है तालिबान के खौफ के बीच बना मैत्री बांध

इसी इलाके की सांसद रुकिया नईल ने कहा, “उन्‍होंने उसे जिंदा काट डाला।” तालिबान ने इस हमले में अपनी संलिप्‍तता से इनकार किया है लेेकिन हाल ही में इस घटना का वीडियो और फोटो सामने आया है।

अहमद की मौत पिछले 6 महीनों में हुई हिंसक वारदातों की सबसे ताजा घटना है। अफसरों का कहना है कि 15 साल की जंग अब हिंसक मोड़ ले रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App