ताज़ा खबर
 

चांसलर एंजेला मर्केल के साथ साझा बयान में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- हम एक-दूसरे के लि‍ए बने हैं

मोदी ने मर्केल से रात्रि भोज के दौरान द्विपक्षीय हितों, क्षेत्रीय और ब्रेग्जिट के परिणाम, व्यापार एवं यूरोप में हुए हालिया आतंकी हमलों जैसे वैश्विक मुद्दों पर अनौपचारिक बातचीत की।

जर्मनी भारत को हमेशा एक शक्तिशाली, तैयार और सक्षम साझेदार के रूप में पाएगा। (Photo: PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (30 मई) भारत-जर्मन संबंधों में गति लाने और आर्थिक संबंधों में बड़ी छलांग की वकालत की। पीएम नरेंद्र मोदी ने चांसलर एंजेला मर्केल के साथ साझा बयान में कहा कि हम एक दूसरे के लिए ही बने हैं। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल से बातचीत के दौरान व्यापार, कौशल विकास, साइबर सुरक्षा और आतंकवाद जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा के बाद मोदी ने यह टिप्पणी की। जर्मनी भारत को हमेशा एक शक्तिशाली, तैयार और सक्षम साझेदार के रूप में पाएगा। वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने साइबर राजनीति, विकास पहलों, सतत शहरी विकास, क्लस्टर प्रबंधकों का सतत विकास एवं कौशल विकास, डिजिटलीकरण के क्षेत्र में सहयोग, रेल सुरक्षा के क्षेत्र में सहयोग, व्यावसायिक शिक्षा को बढ़ावा और भारत-जर्मन केंद्र पर लगातार सहयोग पर एक संयुक्त उद्देश्य घोषणा-पत्र पर भी दस्तखत किए। पीएम मोदी ने जर्मनी के साथ द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों का रोडमैप तैयार करने के लिए जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के साथ चौथे चरण की भारत-जर्मनी अंतर सरकारी वार्ता (आईजीसी) की।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback
  • Moto C 16 GB Starry Black
    ₹ 5999 MRP ₹ 6799 -12%
    ₹0 Cashback

जर्मन चांसलर के कार्यालय यानी चांसलरी में मोदी का सैन्य सम्मान के साथ समारोहपूर्वक स्वागत किया गया। यहां मर्केल और वरिष्ठ जर्मन अधिकारियों ने उनका अभिवादन किया। मोदी आईजीसी के तहत मर्केल के साथ औपचारिक वार्ताएं कर रहे हैं। ये वार्ताएं हर दो साल में एक बार आयोजित की जाती हैं। मोदी के साथ उनके वरिष्ठ मंत्रियों का प्रतिनिधिमंडल भी था, जिनमें विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन, वाणिज्यमंत्री निर्मला सीतारमण, ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल और विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर शामिल हैं।

मोदी ने अपनी जर्मनी यात्रा के पहले दिन चांसलर मर्केल से रात्रि भोज के दौरान द्विपक्षीय हितों, क्षेत्रीय और ब्रेग्जिट के परिणाम, व्यापार एवं यूरोप में हुए हालिया आतंकी हमलों को लेकर कट्टरपंथ जैसे वैश्विक मुद्दों पर अनौपचारिक बातचीत की। बर्लिन के निकट स्थित अतिथि गृह स्कॉलस मेसेबर्ग में दोनों नेताओं ने अपनी अनौपचारिक बातचीत के दौरान चीन की ‘वन बेल्ट, वन रोड’ पहल और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने विभिन्न द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर बेहद सकारात्मक चर्चा की। यूरोप में हुए हालिया आतंकी हमलों की पृष्ठभूमि में चरमपंथ के अलावा ब्रेग्जिट के परिणाम और व्यापार आदि मुद्दे इस बातचीत के केंद्र में रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App