ताज़ा खबर
 

इमरान खान ने नवाज शरीफ पर बोला हमला, कहा- नरेंद्र मोदी को गलत सिग्‍नल न देता तो आज ये हाल न होता

इमरान ने कहा, ''आज मोदी कभी भी इस तरह न होता, अगर नवाज शरीफ उसे गलत सिग्‍नल न देता।''

इमरान खान ने नवाज पर पीएम मोदी से नजदीकियां बढ़ाने के आरोप लगाए।

पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता इमरान खान ने पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर हमला बोला है। खान ने शरीफ और उनके परिवार पर भ्रष्‍टाचार में ‘गले तक डूबे होने’ का आरोप लगाते हुए कहा कि वह पाकिस्‍तानी जनता के पैसों की बर्बादी कर रहे हैं। इमरान खान ने कहा है, ”मैं एक अपराधी को प्रधानमंत्री नहीं मानता। मैंने किसी तरह की लड़ाई से बचने के लिए संसद के संयुक्‍त सत्र में हिस्‍सा नहीं लिया।”इमरान ने नवाज शरीफ पर हमला बोलते हुए कहा कि वह हमेशा बाहर रहते हैं। उन्‍होंने कहा, ”ये कमाल है। 70 करोड़ रुपए बाहर टुअर पर खर्च कर चुका है। बच्‍चा खान यूनिवर्सिटी में 19 बच्‍चे शहीद हुए, नवाज शरीफ हैरड्स में शॉपिंग कर रहे हैं। अभी बॉर्डर पर टेंशन है, नवाज शरीफ लंदन में गुक्‍की में शॉपिंग कर रहे हैं। इनको मुल्‍क की फिक्र है।” इमरान ने नवाज की लीडरशिप पर सवाल उठाते हुए कहा, ”आज मोदी कभी भी इस तरह न होता, अगर नवाज शरीफ उसे गलत सिग्‍नल न देता। इंडिया गया पहली दफा, उसकी इनॉगरेशन पर तो हुर्रियत से मिलने का टाइम नहीं मिला। कश्‍मीरी लीडर्स से नहीं मिला, मिलता किसको है, बिजनेसमैन के घर चला जाता है चाय पर। सिग्‍नल इन्‍होंने गलत दिए। नरेंद्र मोदी हर मोर्चे पर पाकिस्‍तान को आइसोलेट कर रहा है, इन्‍होंने उसे दोस्‍त बनाया हुआ है। हम इस लेवल पर होते ही नहीं, अगर नवाज शरीफ सही से लीडरशिप देता। पार्लियामेंट के ज्‍वाइंट सेशन की जरूरत ही न होती।”

कश्‍मीर में फिर हुआ आतंकी हमला, देखें वीडियो: 

गौरतलब है कि जम्‍मू-कश्‍मीर के उरी में आर्मी कैंप पर हमले के बाद से ही भारत-पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में तनाव चल रहा है। जम्मू-कश्मीर के उरी स्थित आर्मी कैंप पर 18 सितंबर को हुए हमले में 19 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। जवाबी कार्रवाई करते हुए भारतीय सेना द्वारा 29 सितंबर को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार जाकर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में की गई सर्जिकल स्ट्राइक में कई आतंकी मारे गए। डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशन लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह के अनुसार ऑपरेशन में पीओके स्थित कई आतंकवादी लॉन्चिंग पैड को नष्ट कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App