ताज़ा खबर
 

‘नौकरानी बनाया, गालियां भी दीं’, सऊदी से भारत लौटीं अमीना बेगम ने सुनाई आपबीती

नौकरी के लिए सऊदी गई महिला के साथ इस तरह के उत्पीड़न व प्रताड़ना की यह पहली घटना नहीं है। जनवरी में इसी साल तेंलागाना की एक अन्य महिला सऊदी से भारत लाई गई थी। वह भी कुछ इसी तरह वहां फंसी थी। महिला का यौन उत्पीड़न किया जाता था। साथ ही उसे भूखा रखा जाता था।

सऊदी से लौटकर हैदराबाद वापस आईं अमीना ने मीडिया के सामने अपना दर्द यूं बयां किया। (फोटो: ANI)

सऊदी अरब में भारत की महिला को झांसा देकर बुलाया गया। लोग वहां उसे नौकरानी बना कर रखते थे। खूब काम कराते और गंदी-गंदी गालियां देते थे। पीड़िता इससे तंग आकर विरोध करती, तो परेशान करते। उसके घर वालों को इस बारे में पता लगा, तो वे भी दंग रह गए। पीड़ित पक्ष ने इसके बाद भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को चिट्ठी लिखी थी।

मदद की गुहार लगाने के बाद सऊदी में भारतीय दूतावास ने पीड़िता की मदद की, जिसके बाद उसे सही-सलामत देश वापस लाया गया। घर पहुंचकर महिला ने मीडिया से आपबीती साझा की। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पीड़िता की पहचान अमीना बेगम के रूप में हुई है। वह मूलरूप से तेलंगाना राज्य के हैदराबाद शहर की रहने वाली हैं।

उन्होंने बताया, “मुझसे बच्चों की देखभाल करने के लिए कहा गया था। मगर असल में मुझे नौकरानी बनाकर रखा गया। वह भी एक नहीं, बल्कि तीन घरों पर। जिन घरों में मुझसे काम कराया जाता था, वहां पर लोग भी बदतमीज थे। वे गालियां देते थे। मेरे घर वालों ने इस बारे में विदेश मंत्री को चिट्ठी लिखी। मैं भारतीय दूतावास का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जिनकी वजह से मैं घर वापस आ सकी।”

नौकरी के लिए सऊदी गई महिला के साथ इस तरह के उत्पीड़न व प्रताड़ना की यह पहली घटना नहीं है। जनवरी में इसी साल तेंलागाना की एक अन्य महिला सऊदी से भारत लाई गई थी। वह भी कुछ इसी तरह वहां फंसी थी। महिला का यौन उत्पीड़न किया जाता था। साथ ही उसे भूखा रखा जाता था।

साल 2015 में भी भारतीय महिला के साथ सऊदी में अमानवीयता का मामला सामने आया था। तब एक शख्स ने नौकरानी के दोनों हाथ कुचल दिए थे। कारण था- नौकरानी का मालिक के खिलाफ पुलिस में शिकायत करना। वह उस पर जुल्म ढाता था। पीड़िता तमिलनाडु की निवासी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App