इंजन फेल होने के बावजूद सही सलामत लैंड कराया प्‍लेन, इस पायलट का शुक्रिया अदा करते नहीं थक रहे यात्री

56 साल की पायलट टामी जो शल्ट्स की तत्परता और सूझबूझ ने दर्जनों यात्रियों की जान बचाई। उन्होंने इंजन फेल हो जाने के बावजूद दक्षिण-पश्चिम एयरलाइंस की फ्लाइट की सफलतापूर्वक लैंडिग कराने में सफलता हासिल की।

इंजन फेल होने पर सुरक्षित विमान की लैंडिंग कर यात्रियों की जान बचाने वाली पायलट और विमान(फोटो-सोशल मीडिया से)

56 साल की पायलट टामी जो शल्ट्स की तत्परता और सूझबूझ ने दर्जनों यात्रियों की जान बचाई। उन्होंने इंजन फेल हो जाने के बावजूद दक्षिण-पश्चिम एयरलाइंस की फ्लाइट की सफलतापूर्वक लैंडिग कराने में सफलता हासिल की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आपातकालीन लैंडिंग कराने के बाद उन्होंने यात्रियों को गले लगााय और उन्हें भरोसा दिलाया।
एफ-18 उड़ाने वाली पहली महिला और पूर्व लड़ाकू पायलट की इस बहादुरी भरे कार्य की खूब प्रशंसा हो रही है। बीच उड़ान के दौरान इंजन फेल होने पर पैदा हुए खतरे से भी लड़कर विमान को जमीन पर उतारने को लेकर लोग जमकर सराहना कर रहे हैं। विमान में सफर कर रहे अमांदा बर्मन ने सुरक्षित महसूस होने के बाद कहा-भगवान ने पायलट को देवदूत बनाकर हमारी रक्षा के लिए भेजा था। एक और यात्री अल्फ्रेड टुमिलिन्सन ने कहा कि उनके पास स्टील की जैसे हैं, सब लोग उनकी सराहना कर रहे थे। संकट के बाद खुद को जमीन पर सुरक्षित पाना आश्चर्यजनक रहा।आपातकालीन लैंडिंग के बाद वे वापस सभी यात्रियों के पास आईं और सभी से हाथ मिलाकर उत्साह बढ़ाया।
हवाई जहाज में उड़ान के दौरान हुए विस्फोट के कारण एक यात्री की मौत हो गई। मगर पायलट की सूझबूझ से विमान में शामिल 148 यात्रियों की जानें बच गईं। बता दें कि न्यू मैक्सिको की मूल निवासी इस साहसी महिला ने नौसेना में दस साल सेवा की है। लेफ्टिनेंट कमांडर पद पर पहुंचने के बाद 1993 में नौसेना को अपने पति के साथ अलविदा कह दिया। पायलट के दो बच्चे हैं।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X