ड्यूटी के दौरान भारतीय-अमेरिकी सिख पुलिस अधिकारी की गोली मारकर की गई थी हत्या, अब उनके नाम पर होगा डाकघर

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में महिला सांसद लिज़ी फ्लेचर ने कहा कि 315 एडिक्स हॉवेल रोड स्थित डाकघर का नाम संदीप धालीवाल के नाम पर रखने के फैसला उपयुक्त रहेगा।

Sandeep Singh Dhaliwal
संदीप सिंह धालीवाल की 2019 में ड्यूटी के वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गई थी(फोटो सोर्स: ट्विटर)

पश्चिम ह्यूस्टन में एक डाकघर का नाम बदलकर भारतीय-अमेरिकी सिख पुलिस अधिकारी संदीप सिंह धालीवाल के नाम पर रखा गया है। बता दें कि संदीप सिंह धालीवाल की 2019 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, उस वक्त वो ड्यूटी पर थे। गौरतलब है कि 42 वर्षीय संदीप धालीवाल 2015 में उस वक्त सुर्खियों में आए थे, जब वह पगड़ी पहनने और दाढ़ी रखने का अधिकार पाने वाले टेक्सास के पहले सिख पुलिस अधिकारी बने थे।

मंगलवार को उनकी याद में एक समारोह आयोजित किया गया। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में नाम बदलने का प्रस्ताव देने वाली महिला सांसद लिज़ी फ्लेचर ने कहा कि 315 एडिक्स हॉवेल रोड स्थित डाकघर का नाम संदीप धालीवाल के नाम रखना सही रहेगा। क्योंकि उन्होंने समुदाय की सेवा के लिए अपने प्राण त्याग दिए थे।

फ्लेचर ने कहा, ‘‘धालीवाल के बिना स्वार्थ के सेवा करने वाले लोगों में से एक थे। उनका जीवन हमेशा यादगार रहेगा। संदीप धालीवाल को लेकर मैं सम्मानित महसूस कर रही हूं। हमारे समदाय का उन्होंने शानदार प्रतिनिधित्व किया। दूसरों की सेवा करके उन्होंने समानता, संबंधों और समुदाय के लिए काम किया।

फ्लेचर ने कहा, “इस इमारत का नाम बदलकर ‘डिप्टी संदीप सिंह धालीवाल पोस्ट ऑफिस’ रखने को लेकर विधेयक पारित करने के लिए, मुझे द्विदलीय प्रतिनिधिमंडल, हमारे सामुदायिक भागीदारों और सिख समुदाय के लोगों के साथ काम करके खुशी हुई।’’

वहीं इस कदम को लेकर संदीप धालीवाल के पिता प्यारा सिंह धालीवाल ने ह्यूस्टन के लोगों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि, ‘हिंसा के चलते मेरा बेटा परिवार से जुदा कर दिया गया। हमें ह्यूस्टन समुदाय की तरफ से ढेर सारा प्यार और समर्थन मिला है। हम इसके लिए आभारी हैं। संदीप को इस तरह से याद किये जाने को लेकर हम सम्मानित महसूस कर रहे हैं।

बता दें कि इस तरह किसी डाकघर का नाम बदलना कोई सामान्य कदम नहीं है। साल 2020 में लिजी फ्लेचर के ‘एचआर 5317’ डिप्टी संदीप सिंह धालीवाल डाकघर विधेयक पर तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हस्ताक्षर किए थे।

पढें अंतरराष्ट्रीय समाचार (International News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।