ताज़ा खबर
 

HIV पीड़ित सेना के अफसर ने 75 किशोरों से किया कुकर्म, सबको एड्स होने का खतरा

पीड़ित किशोरों को उम्र 13-18 वर्ष के बीच है। आरोपी सार्जेंट मेजर ने पहले बातचीत के दौरान पीड़ित किशोरों से आपत्तिजनक तस्वीरें मांगी और फिर इन तस्वीरों के दम पर आरोपी सार्जेंट मेजर ने पीड़ित किशोरों के साथ कुकर्म किया।

आरोपी सार्जेंट मेजर गिरफ्तार। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एचआईवी पीड़ित सेना के एक सार्जेंट मेजर द्वारा करीब 75 किशोरों से कुकर्म करने का मामला सामने आया है। चूंकि आरोपी मेजर एचआईवी से पीड़ित है, ऐसे में कुकर्म के शिकार सभी किशोरों के भी एचआईवी से पीड़ित होने का खतरा पैदा हो गया है। घटना पड़ोसी देश थाईलैंड के खोन केन प्रांत की है। खबर के अनुसार, आरोपी सैन्य अफसर ने एक समलैंगिक डेटिंग वेबसाइट पर अपना फर्जी प्रोफाइल बनाया और फिर इस तरह से उसने इस वेबसाइट के जरिए करीब 75 किशोरों को अपने पास बुलाकर उनके साथ कुकर्म की घटना को अंजाम दिया। थाईलैंड की क्राइम टास्क फोर्स के डिप्टी हेड ऑफ टेक्नोलॉजी सुराचेते हाकपार्न ने इस घटना की जानकारी मीडिया को दी है।

सुराचेते के अनुसार, पीड़ित किशोरों को उम्र 13-18 वर्ष के बीच है। आरोपी सार्जेंट मेजर ने पहले बातचीत के दौरान पीड़ित किशोरों से आपत्तिजनक तस्वीरें मांगी और फिर इन तस्वीरों के दम पर आरोपी सार्जेंट मेजर ने पीड़ित किशोरों के साथ कुकर्म किया। सुराचेते के अनुसार, हमारे पास आरोपी के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं और आरोपी ने भी अपना जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपी पिछले 4 सालों से किशोरों को अपना शिकार बना रहा था। पुलिस को आरोपी के खिलाफ टेक्नोलॉजी क्राइम टास्क के फेसबुक पेज पर शिकायत मिली थी। आरोपी ने बैंकाक में अपनी पोस्टिंग के दौरान और फिर खोन केन में किशोरों के साथ कुकर्म किया।

फिलहाल आरोपी सैन्य अफसर को सेना से बर्खास्त कर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। वहीं पीड़ित किशोरों के टेस्ट कराकर उन्हें काउंसलिंग देने की बात की जा रही है। थाईलैंड में बच्चों के साथ बलात्कार के मामले में 20 साल तक सजा का प्रावधान है। बता दें कि थाईलैंड में बच्चों के यौन उत्पीड़न के काफी मामले सामने आते हैं। अक्टूबर माह में भी थाइलैंड के एक पूर्व बौद्ध साधू पर बच्ची से बलात्कार का आरोप लगा था। इस मामले की चर्चा पूरे थाइलैंड में हुई थी। गौरतलब है कि ये आरोपी बौद्ध साधू प्राइवेट जेट में चलता है और डिजाइनर चीजे ही इस्तेमाल करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App