ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में हिंदू डॉक्टर पर ईशनिंदा का आरोप, हुआ गिरफ्तार

पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस ऑफिसर (SHO) जाहिद हुसैन लेगहारी ने बताया कि आरोपी डॉक्टर के खिलाफ एक केस दर्ज कर लिया गया है और भीड़ के गुस्से को देखते हुए डॉक्टर को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

पाकिस्तान के दक्षिणी सिंध प्रांत में ईशनिंदा के आरोप में सोमवार (27 मई, 2019) को एक हिंदू पशु चिकित्सक को गिरफ्तार कर लिया गया। एक स्थानीय धर्मगुरु ने उनके खिलाफ ईशनिंदा की शिकायत दर्ज कराई थी। गिरफ्तार पशु डॉक्टर की पहचान रमेश कुमार के रूप में हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कथित ईशनिंदा से गुस्साए प्रांत के मीरपुरखास में फुलाडयन नगर में आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने हिंदुओं की दुकानों में आग लगा दी और टायरों को जलाकर सड़कों पर प्रदर्शन किया। दरअसल स्थानीय मस्जिद के मौलवी इशाक नोहरी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि डॉक्टर ने पवित्र कुरआन के पन्ने फाड़कर उसमें दवा लपेटकर दी थी।

मामले में स्थानीय पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस ऑफिसर (SHO) जाहिद हुसैन लेगहारी ने बताया कि आरोपी डॉक्टर के खिलाफ एक केस दर्ज कर लिया गया है और भीड़ के गुस्से को देखते हुए डॉक्टर को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। इसके अलावा क्षेत्र में अशांति फैलाने वाले तत्वों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि कराची और सिंध प्रांत में बड़ी संख्या में हिंदू रहते हैं। पाकिस्तान हिंदू परिषद ने पूर्व में शिकायत की थी कि निजी रंजिश में ईशनिंदा कानून के तहत अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को निशाना बनाया जाता है।

लाहौर स्थित एडवोकेसी ग्रुप, सेंटर फॉर सोशल जस्टिस के आंकड़ों के मुताबिक साल 1987 से 2016 के बीच पाकिस्तान के ईशनिंदा कानून के तहत कम से कम 1,472 लोगों पर आरोप लगाए गए। पाकिस्तान में हिंदू सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय है। आधिकारिक अनुमान के मुताबिक पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं। हालांकि पाकिस्तान के हिंदू समाज के मुताबिक देश में रहने वाले हिंदुओं की संख्या 90 लाख है। पाकिस्तान की अधिकांश हिंदू आबादी सिंध प्रांत में बसी हुई है जहां वे अपने मुस्लिम साथियों के साथ संस्कृति, परंपरा और भाषा साझा करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X