ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति पद के लिए हिलेरी उपयुक्त : शेफाली

कैलिफोर्निया के सन फ्रांसिस्को में रहने वाली शेफाली का मानना है कि बराक ओबामा के बाद अमेरिका की अगली राष्ट्रपति बनने के लिहाज से 68 साल की हिलेरी सबसे सही हैं।

Author वॉशिंगटन | April 12, 2016 12:17 AM
राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन। (फाइल फोटो)

भारतीय मूल की अमेरिकी प्रचारकर्ता और डेमोक्रेटिक उम्मीदवारी की प्रमुख दावेदार हिलेरी क्लिंटन की धन संग्रहकर्ता शेफाली ने कहा है कि अमेरिका सर्वाधिक योग्य और दक्ष व्यक्ति को देश का नेता बनाने के लिए तैयार है फिर चाहे वह पुरुष हो या महिला। अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति के लिए तैयार होने से जुड़ा सवाल पूछे जाने पर हरिद्वार में जन्मीं कश्मीरी-अमेरिकी शेफाली राजदान दुग्गल ने कहा कि ‘पूरी ईमानदारी से कहूं, तो इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं क्या सोचती हूं क्योंकि देश की अपनी एक धड़कन होनी चाहिए, जिससे ये फैसले लिए जाते हैं। ये फैसले सामाजिक विकास और खुली सोच के साथ लिए जाते हैं, जो प्रगतिवादी विचार के साथ आते हैं।’

मीडिया की नजरों से दूर, 44 साल की शेफाली ने खुद को पूर्व विदेश मंत्री के लिए एक बड़ी धनसंग्रहकर्ता और प्रचारक के तौर पर तैयार किया है। कैलिफोर्निया के सन फ्रांसिस्को में रहने वाली शेफाली का मानना है कि बराक ओबामा के बाद अमेरिका की अगली राष्ट्रपति बनने के लिहाज से 68 साल की हिलेरी सबसे सही हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए नहीं कि पूर्व विदेश मंत्री एक महिला हैं, बल्कि इसलिए कि उनके पास इतिहास के इस अहम मोड़ पर देश की अगुआई करने की सारी काबिलियत है। क्लिंटन कैंपेन की नेशनल फाइनेंस कमेटी से जुड़ी शेफाली हिलेरी के समर्थकों के उस समूह में भी शामिल हैं, जिन्होंने 12 अप्रैल 2015 को प्रचार अभियान शुरू होने के बाद से इस प्राइमरी चुनाव प्रक्रिया में अब तक कम से कम एक लाख डालर जुटाए हैं।

शेफाली ने कहा कि अमेरिका सर्वाधिक सक्षम, विचारवान और कुशल व्यक्ति को अपने देश का नेता बनाने के लिए हमेशा तैयार है। लिंग की बात अप्रासंगिक है। शेफाली ने बताया कि देश के अगले कमांडर-इन-चीफ को राष्ट्रपति ओबामा की ओर से किए गए और जारी प्रेरक कामों को आगे भी जारी रखना चाहिए। ऐसी हिलेरी क्लिंटन ही होंगी और वह एक महिला हैं। शेफाली डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी की नेशनल फाइनेंस कमेटी की सदस्य हैं। वह डीएनसी वूमन्स लीडरशिप फोरम की सहअध्यक्ष भी हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की ओर से यूएस होलकास्ट मेमोरियल काउंसिल में नियुक्त की गर्इं शेफाली का कहना है कि वह उन्हीं मुद्दों पर काम करती हैं जिनसे वह बेहद प्रभावित महसूस करती हैं। शेफाली बेहद छोटी उम्र में ही अमेरिका चली गई थीं। उनकी परवरिश ओहायो के सिनसिनाती में हुई। शेफाली ने ओहायो के आक्सफोर्ड में मियामी यूनिवर्सिटी से राजनीति विज्ञान में माइनर के साथ बीएस मास कम्युनिकेशन की डिग्री ली। उन्होंने न्यूयार्क यूनिवर्सिटी से पालिटिकल कम्युनिकेशन में एमए किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X