ताज़ा खबर
 

अपने विरोधी को पीछे छोड़ आगे निकले हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रंप

राष्ट्रपति के चुनावों में निर्णायक माने जाने वाले प्रांत आयोवा में डेमोक्रैट हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप को अपने प्रतिद्वंद्वी पर मामूली बढ़त हासिल है। प्राइमरी चुनाव सोमवार को शुरू होने हैं।

Author  वाशिंगटन | February 1, 2016 01:31 am
हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप को अपने प्रतिद्वंद्वी पर मामूली बढ़त

राष्ट्रपति के चुनावों में निर्णायक माने जाने वाले प्रांत आयोवा में डेमोक्रैट हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप को अपने प्रतिद्वंद्वी पर मामूली बढ़त हासिल है। प्राइमरी चुनाव सोमवार को शुरू होने हैं। बहरहाल, अहम आयोवा कॉकस से पहले, ब्लूमबर्ग के सहयोग के साथ डेस मोइनेज रजिस्टर की तरफ से जारी अंतिम जनमत सर्वेक्षण के नतीजे हिलेरी और ट्रंप के बारे में दो अलग-अलग दास्तान सुनाते हैं। जहां ट्रंप ने नवीनतम जनमत सर्वेक्षण में सीनेटर टेड क्रूज पर बढ़त बना ली है, वहीं सीनेटर बर्नी सैंडर्स पर हिलेरी की मामूली बढ़त बनी हुई है।

डेस मोइनेज रजिस्टर ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति पद के चुनाव की 2016 की होड़ के लिए पहले वोट डाले जाने से बिल्कुल पहले आयोवा में अपनी बढ़त फिर से हासिल कर ली। ट्रंप को 28 फीसद की हिमायत हासिल है जबकि 23 फीसद के साथ क्रूज उनके पीछे हैं। 13 जनवरी को जारी जनमत सर्वेक्षण के नतीजों में क्रूज को 25 फीसद की हिमायत हासिल थी और 22 फीसद के साथ ट्रंप पिछड़े हुए थे। सर्वेक्षण का संचालन करने वाले आयोवा के दिग्गज चुनाव विशेषज्ञ जे एन सेल्जर ने कहा कि ट्रंप केंद्र और हाशिया दोनों जगह बढ़त बनाए हैं।
दूसरी तरफ सैंडर्स पर हिलेरी की बढ़त मामूली है।

हिलेरी को कॉकस के संभावित मतदाताओं के 45 फीसद की हिमायत हासिल है जबकि 42 फीसद की पसंद सैंडर्स हैं। राष्ट्रीय राजनीतिक रणनीतिकार डेविड एक्सेलरोड ने डेमोक्रेटिक पार्टी के अंदर के हालात पर टिप्पणी करते हुए कहा कि यह दौड़ जितनी मुश्किल हो सकती हैं। अगर अंतिम महीने में बढ़ते हुए बर्नी सैंडर्स को गति मिल जाती है तो दौड़ थम जाएगी और अनिवार्य रूप से बराबरी पर आ जाएगी। इस बीच, ‘पोलिटिको’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि सेल्जर की ओर से संचालित जनमत सर्वेक्षण लंबे समय से प्रभावशाली और सटीक रहे हैं।

सेल्जर के सर्वेक्षण ने 2008 में बराक ओबामा और माइक हक्काबी की जीत का अनुमान जताया था और 2012 में रिक सैंटोरम की अंतिम क्षण में तेज बढ़त का पूर्वानुमान जताया था। इस बीच, प्रभावशाली दैनिक न्यूयार्क टाइम्स ने राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन उम्मीदवार के तौर पर क्रमश: हिलेरी और जॉन कसिच का अनुमोदन किया है। हिलेरी पर न्यूयार्क टाइम्स के संपादक मंडल का फैसला हैरतअंगेज नहीं लगा लेकिन रिपब्लिकन खेमे से तीन शीर्ष आकांक्षियों को, खास कर शहर के डोनाल्ड ट्रंप को ठुकराने के उसके फैसले से बहुत लोगों को हैरत हुई।

दैनिक ने कहा कि अमेरिका के लिए दृष्टि पेश करने के उद्देश्य से हिलेरी क्लिंटन डेमोक्रैट के लिए सही चुनाव हैं जो अग्रणी रिपब्लिकन उम्मीदवारों की तरफ से पेश दृष्टि से पूरी तरह भिन्न है। एक अन्य दृष्टि जिसमें मध्यवर्गीय अमेरिकियों को खुशहाली मिलती है, महिलाओं के अधिकार में इजाफा होता है, गैर दस्तावेजीकृत आव्रजकों को वैधता का एक मौका मिलता है, अंतरराष्ट्रीय गठबंधन परवान चढ़ाए जाते हैं और देश को सुरक्षित रखा जाता है। न्यूयार्क टाइम्स ने सैंडर्स की उम्मीदवारी खारिज करते हुए कहा कि हिलेरी के पास जितना तजुर्बा है या नीतिगत विचार हैं वह वर्मोंट के सीनेटर के पास नहीं है।

बहरहाल, बहुत लोगों को ताज्जुब तब हुआ जब शीर्ष अमेरिकी अखबार ने ना सिर्फ बहुचर्चित रिपब्लिकन नेता डोनाल्ड ट्रंप की दावेदारी खारिज कर दी, बल्कि उनके पीछे-पीछे चल रहे क्रूज का भी अनुमोदन करने से इनकार कर दिया। न्यूयार्क टाइम्स ने अलग-अलग कारणों से ट्रंप और क्रूज दोनों को बराबर का आपत्तिजनक करार दिया।

अखबार ने कहा कि ट्रंप को ना तो राष्ट्रीय सुरक्षा, रक्षा या वैश्विक व्यापार का कोई तजुर्बा है और ना ही उनमें इसके बारे में सीखने की कोई रूचि है। न्यूयार्क टाइम्स ने कहा कि क्रूज का चुनाव अभियान संवैधानिक उसूलों को लेकर नहीं, बल्कि महत्वाकांक्षा को लेकर है। इस बीच, गैलप ने अपना ताजा जनमत सर्वेक्षण जारी करते हुए कहा है कि जब समूची अमेरिकी आबादी को देखते हैं तो ट्रंप दोनों पार्टी के सर्वाधिक अलोकप्रिय उम्मीदवार हैं। जनमत सर्वेक्षण के नतीजों के अनुसार 60 फीसद अमेरिकी मतदाता रियल एस्टेट के बेताज बादशाह ट्रंप को नापसंद करते हैं। सर्वेक्षण कहता है कि 1992 से लेकर अब तक के मामलों में दोनों पार्टियों की ओर से मनोनीत किसी भी उम्मीदवार के मुकाबले ट्रंप सर्वाधिक अलोकप्रिय हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App