ताज़ा खबर
 

अमेरिका: हिलेरी क्लिंटन ने रचा इतिहास, स्वीकार की डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी

डोनाल्ड ट्रंप पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'किसी ऐसे की बात मत सुनना जो यह कहता है कि वह अकेले सब ठीक कर सकता है।'

Author Published on: July 29, 2016 9:33 AM
हिलेरी क्लिंटन। (फाइल फोटो)

अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी स्वीकार कर ली है। हिलेरी का नॉमिनेशन स्वीकार करना अपने आप में इतिहास बन गया। ऐसा इसलिए है क्योंकि अमेरिका में पहली बार किसी महिला को राष्ट्रपति पद के लिए आगे किया गया है। नॉमिनेशन स्वीकार करने के दौरान हिलेरी काफी भावुक नजर आईं। अपनी स्पीच में उन्होंने कई अहम बातें की। उन्होंने वहां मौजूद लोगों से कहा कि वह जानती हैं कि सभी अमेरिकी लोग आर्थिक अस्थिरता होने से परेशान रहते हैं और उन्हें यकीन नहीं होता कि वह उसे ठीक कर पाएंगी। डोनाल्ड ट्रंप पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘किसी ऐसे की बात मत सुनना जो यह कहता है कि वह अकेले सब ठीक कर सकता है। हम सभी लोगों को तय करना होगा कि हमें आगे क्या और कैसे करना है।’

क्या कहा हिलेरी ने: अपनी स्पीच में हिलेरी ने कहा, ‘हमें यह फैसला करना होगा कि क्या हम लोग मिलकर काम करना चाहते हैं, ताकि हम एक साथ ऊंचा उठ सकें। हम किसी धर्म पर पाबंदी नहीं लगाएंगे, हम हर अमेरिकन और अपने सहयोगियों के साथ मिलकर आतंकवाद को हराएंगे। किसी को भी ऐसा नहीं कहने देंगे कि हमारा देश कमजोर है क्योंकि हम कमजोर नहीं हैं। अमेरिकन ऐसा कभी नहीं कहते कि सिर्फ मैं हालात को ठीक कर सकता हूं हम लोग कहते हैं कि हम मिलकर इसे ठीक करेंगे।’

बेटी भी आई: हिलेरी के साथ पति बिल क्लिंटन के अलावा उनकी बेटी चेलसा क्लिंटन भी आई थी। उन्होंने भी स्पीच दी। चेलसा ने ही अपनी मां को स्टेज पर आमंत्रित भी किया था। चेलसा 36 साल की हैं और 2010 में उनकी शादी हो चुकी है।

Read Also: ऋषि कपूर ने हिलेरी क्‍ल‍िंटन पर की भद्दी टिप्‍पणी, सोशल मीडिया ने लताड़ा

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Video: विवादों में Naked डेविड की मूर्ति, कपड़े पहनाने को लेकर होगी वोटिंग
2 सीरिया में हुए बम विस्फोट की ISIS ने ली जिम्मेदारी, 44 लोगों की हुई मौत और दर्जनों घायल
3 भारत एकजुट, स्थिर श्रीलंका के पक्ष में खड़ा है: नरेंद्र मोदी
ये पढ़ा क्या?
X