ताज़ा खबर
 

हाफिज सईद की धमकी- भारत से 1971 सहित कई बातों का बदला लेना है, कश्‍मीर अपने बांधों के साथ आजाद होगा

आतंकी सरगना और जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद ने शुक्रवार को भारतीय सेना के हमले में मारे गए आतंकियों और पाकिस्‍तानी सैनिकों को श्रद्धांजलि दी।

Author नई दिल्‍ली | September 30, 2016 8:03 PM
आतंकी सरगना और जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद ने शुक्रवार को भारतीय सेना के हमले में मारे गए आतंकियों और पाकिस्‍तानी सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। (Photo:AP)

आतंकी सरगना और जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद ने शुक्रवार को भारतीय सेना के हमले में मारे गए आतंकियों और पाकिस्‍तानी सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। सईद ने लाहौर में नमाज अदा करने के बाद कहा कि भारत से बदला लिया जाएगा। @HafizSaeedNow टि्वटर अकाउंट से ट्वीट कर हमले की धमकी दी गई। इनमें कहा गया कि कश्‍मीर की आजादी से भारत की तबाही की शुरूआत होगी। 1971 से लेकर काफी बातों का बदला लेना है। ट्वीट में कहा गया, ”राष्‍ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दे पर मैं राजनेताओं, धार्मिक संगठनों से एकजुट होने की अपील करता हूं। कश्‍मीर को आजाद कराने के लिए पाकिस्‍तानी सुरक्षा बलों को आजादी दी जानी चाहिए। जो लोग हमारा पानी रोकने की धमकी दे रहे हैं वे सुन लें। कश्‍मीर अपने बांधों के साथ आजाद होगा।” भारतीय मीडिया को लेकर कहा गया, ”भारतीय मीडिया भी देखेगा कि पाकिस्‍तानी जवान कैसे सर्जिकल स्‍ट्राइक करते हैं। अमेरिका भी मदद नहीं कर पाएगा। भारत ने लाइन ऑफ कंट्रोल पार करने की बात कबूली है इसका जवाब आपको जल्‍दी मिलेगा। आजाद कश्‍मीर में कोई सर्जिकल स्‍ट्राइक नहीं हुआ। यह सब अजीत डोवाल का किया हुआ नाटक है।”

सईद के अनुसार उरी में सेना के कैंप पर कश्‍मीरी लोगों ने हमला किया। ट्वीट में लिखा है, ”उरी में भारतीय सैनिेकों पर कश्‍मीरियों ने हमला किया। भारत ने 20 के मरने का दावा किया जबकि वास्‍तविक आंकड़ा 177 या इससे ज्‍यादा है। जब कश्‍मीरी मर रहे थे तब दुनिया चुप थी। कश्‍मीरियों ने जब उरी में जवाब दिया तब अमेरिका और अन्‍य लोग जागे।” गौरतलब है कि भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर की रात को पाक अधिकृत कश्‍मीर में सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी। इसमें आतंकियों को काफी नुकसान पहुंचा था। डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बताया था कि भारत ने एलओसी पार करके आतंकी ठिकानों पर हमले किए हैं और कई आतंकियों को मार गिराया है।

पाकिस्तान के कब्जे में फंस गया चंदू बाबूलाल, खबर बर्दाश्त नहीं कर पाई नानी, हुई मौत

डीजीएमओ ने बताया, ‘ये सभी आतंकी भारत में घुसपैठ करने के लिए एलओसी पर इकट्ठा हुए थे। वे कश्मीर में घुसकर भारत के कई अन्य शहरों में हमला करना चाहते थे। इन ऑपरेशन को रोक दिया गया है क्योंकि इनका उद्देश्य आतंकियों को मार गिराना था। मैंने पाकिस्तानी डीजीएमसी को फोन करके अपनी चिंता साझा की और कल रात किे सर्जिकल हमले की भी जानकारी दी।’

भारत-पाकिस्‍तान में हुआ परमाणु हमला तो 4 करोड़ लोग मारे जाएंगे, आधी ओजोन परत तबाह हो जाएगी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App