ताज़ा खबर
 

खाड़ी शिखर सम्मेलन की शुरुआत, ओबामा ने मांगी आईएस के खिलाफ मदद

इराक में लगभग 4000 अमेरिकी सैनिक इस अभियान के तहत तैनात हैं। यह अभियान आतंकियों से लड़ रहे स्थानीय बलों को प्रशिक्षण एवं मदद देता है।

Author रियाद | April 21, 2016 6:10 PM
खाड़ी शिखर सम्मेलन के दौरान सऊदी अरब के राजा सलमान के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा। (एपी फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने संबंधों के तनाव के बावजूद गुरुवार (21 अप्रैल) को सऊदी अरब में खाड़ी देशों के नेताओं से मुलाकात कर इस्लामिक स्टेट समूह के खिलाफ अभियान तेज करने पर जोर दिया। राष्ट्रपति के तौर पर ओबामा के कार्यकाल में सिर्फ नौ माह बचे हैं और ऐसे में यह शायद राष्ट्रपति के तौर पर उनका आखिरी खाड़ी दौरा होगा। ओबामा ने खाड़ी के छह देशों के नेताओं के साथ शिखर सम्मेलन में ली गई तस्वीर पोस्ट की। इसमें सऊदी के शाह सलमान भी नजर आ रहे हैं। अपने कार्यकाल के आखिरी दौर में ओबामा उन सुन्नी सहयोगियों को फिर से भरोसे में लेने की कोशिश कर रह हैं जो उनके क्षेत्रीय प्रतिद्वंद्वी यानी शिया बहुल ईरान के साथ अमेरिका के बढ़ते संबंधों से नाराज हैं।

इराक और सीरिया के व्यापक हिस्सों पर कब्जा कर चुके इस्लामिक स्टेट के खिलाफ हाल के महीनों में प्रगति होने के बाद ओबामा ने सऊदी की राजधानी में खाड़ी देशों की सहयोग परिषद के शिखर सम्मेलन में शिरकत की है। सऊदी अरब और अन्य खाड़ी देश अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल हैं। यह गठबंधन आईएस के खिलाफ हवाई हमले करता है। इराक में लगभग 4000 अमेरिकी सैनिक इस अभियान के तहत तैनात हैं। यह अभियान आतंकियों से लड़ रहे स्थानीय बलों को प्रशिक्षण एवं मदद देता है।

रियाद में राष्ट्रपति ओबामा के साथ मौजूद रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने सोमवार को यह घोषणा की कि जिहादियों के खिलाफ मिली बढ़त को आगे बढ़ाने के लिए अमेरिका इराक में और अधिक सैनिक और अपाचे हमलावर हेलीकॉप्टर भेजेगा। अमेरिका आईएस के कब्जे से मुक्त कराए गए शहरों के पुनर्निर्माण पर जोर देना चाहता है। कार्टर ने बुधवार (20 अप्रैल) को आर्थिक संकट के साथ-साथ चरमपंथियों से लड़ रहे इराक में खाड़ी देशों के अधिक वित्तीय एवं राजनीतिक भागीदारी की अपील की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App