ताज़ा खबर
 

फेसबुक और गूगल पर बाढ़ का खतरा, अंटार्कटिका की बर्फ टूटी तो डूब जाएंगे ऑफिस

एक रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिकों की एक टीम ने फेसबुक और गूगल को चेताया है कि उनका सिलिकॉन वैली वाला ऑफिस बहुत जल्द बढ़ते समुद्र जल स्तर का शिकार हो सकता है।

Author April 23, 2016 22:15 pm
ग्लोबल वार्मिंग के खतरे के बीच सिलिकॉन वैली में मौजूद फेसबुक और गूगल पर इस वक्त बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है।

ग्लोबल वार्मिंग के खतरे के बीच सिलिकॉन वैली में मौजूद फेसबुक और गूगल के ऑफिसों पर इस वक्त बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। गार्डियन की एक रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिकों की एक टीम ने फेसबुक और गूगल को चेताया है कि उनका सिलिकॉन वैली वाला ऑफिस बहुत जल्द बढ़ते समुद्र जल स्तर का शिकार हो सकता है। ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन को रोकने से ग्लोबल वार्मिंग को रोका जा सकता है। गूगल भी बहुत जल्द अपने सभी ऑफिसों में से ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन कम कर सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक सोशल मीडिया जायंट फेसबुक पर इसका खतरा ज्यादा है। लेकिन उनकी ओर से इस बारे में कोई एक्शन लिया जाता अभी नजर नहीं आ रहा है।

फेसबुक का 430,000 स्क्वायर फीट का दफ्तर सैनफ्रैंसिस्को में समंदर के किनारे मौजूद है। फेसबुक के ऑफिस की छत पर 9 एकड़ में फैला गार्डन भी है। कैलिफोर्निया घाटी की कंजर्वेशन और डेवलेपमेंट कमीशन की सीनियर प्लानर लिंडी लो ने कहा, “फेसबुक का दफ्तर इस खतरे का आसान शिकार हो सकता है। उनका ऑफिस समुंद्र स्तर के काफी करीब बना हुआ है। मुझे नहीं मालूम उन्होंने अपना ऑफिस वहां पर बनाने का फैसला क्यों किया किया? शायद फेसबुक को ऐसा लगता है कि वह अपने ऑफिस की सुरक्षा के लिए पर्याप्त पैसा खर्च कर सकता है।”

आने वाले समय में यदि समुद्र जल स्तर में 1.6फीट की बढ़ोत्तरी होती है तो फेसबुक अपने दफ्तर को नहीं बचा पाएगा। हालांकि माउंटेन व्यू पर बने गूगल के दफ्तर को इस केस में थोड़ा वक्त मिल सकता है। लेकिन यदि अंटार्कटिक की बर्फ टूटती है तो समुद्र जल स्तर 6 फीट से भी ऊपर चला जाएगा जिससे दोनों ही ऑफिस डूब जाएंगे। पर्यावरण प्लानिंग एक्सपर्ट क्रिस्टीना हिल बताती हैं कि गूगल और फेसबुक को अपने दफ्तरों को फिर से बनाने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App