ताज़ा खबर
 

जर्मनी: गुरुद्वारा धमाके में घायल ग्रंथी की हालत में सुधार

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि दो व्यक्तियों को गंभीर चोटें नहीं आई हैं और वे गुरुद्वारे पहुंचे आपात चिकित्सा दल के इलाज किए जाने के बाद शादी समारोह में शामिल रहे।

Author बर्लिन | April 19, 2016 11:16 PM
जर्मनी में गुरुद्वारे के बाहर खड़ी पुलिस। (photo DPA via AP)

जर्मनी के एस्सेन में एक गुरुद्वारे में हुए धमाके में घायल 60 साल के ग्रंथी की हालत सुधर रही है और वे अब खतरे से बाहर हैं। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। शनिवार को एक शादी समारोह के दौरान गुरुद्वारा नानकसर के हॉल में हुए विस्फोट में ग्रंथी सहित तीन लोग घायल हो गए थे। शादी में आए ज्यादातर मेहमान पास के हॉल में स्वागत समारोह में शिरकत करने के लिए गुरुद्वारे से चले गए थे, लेकिन जब विस्फोट हुआ तब कई लोग गुरुद्वारे में मौजूद थे। विस्फोट के बाद घायलों को एस्सेन के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि दो व्यक्तियों को गंभीर चोटें नहीं आई हैं और वे गुरुद्वारे पहुंचे आपात चिकित्सा दल के इलाज किए जाने के बाद शादी समारोह में शामिल रहे। उन्होंने कहा कि विस्फोट निश्चित तौर पर एक हमला था, लेकिन अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि कौन सा विस्फोटक इस्तेमाल किया गया या कैसे विस्फोट किया गया, क्योंकि फोरेंसिक विशेषज्ञ और अन्य की तहकीकात अभी जारी है। पुलिस ने कहा कि अब तक इस घटना के आतंकवाद से जुड़े होने के कोई संकेत नहीं मिले हैं, लेकिन जांच सभी दिशाओं में की जा रही है।

इस बीच पुलिस को नई जानकारी मिली है कि एक शख्स जो काले कपड़े पहने और सिर ढंके हुए था, जिसके बारे में संदेह है कि उसने गुरुद्वारे में विस्फोटक उपकरण फेंका, उसे कुछ लोगों ने गुरुद्वारे से बिना टोपी पहने भागते हुए देखा है। प्रवक्ता ने कहा कि चश्मदीदों के मुताबिक, वह भूमध्य क्षेत्र या उत्तरी अफ्रीका के व्यक्ति जैसा दिखता था और जांचकर्ता अब उसकी तलाश कर रहे हैं। प्रवक्ता ने कहा कि वह कुछ मीडिया रिपोर्ट की पुष्टि नहीं कर सकते हैं जिसमें कहा गया था कि उस व्यक्ति की टोपी पुलिस ने बरामद कर ली है और उसका डीएनए परीक्षण किया जाना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App