ताज़ा खबर
 

‘जी4 देश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में स्थायी सदस्यता के लिए वैध उम्मीदवार’

जी4 देशों ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के गठन के 70 वर्ष बाद सुरक्षा परिषद् को बढ़ती वैश्विक चुनौतियों से निपटने में खुद को सक्षम बनाना होगा।

Author न्यूयॉर्क | September 22, 2016 17:34 pm
विदेश राज्यमंत्री एम. जे. अकबर। (फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में व्यापक सुधार की मांग करते हुए जी4 देशों ब्राजील, जर्मनी, भारत और जापान ने गुरुवार (22 सितंबर) को कहा कि 21वीं सदी की ‘भौगोलिक राजनीतिक हकीकतों’ को देखते हुए ये देश संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष संस्था में स्थायी सदस्यता के लिए वैध उम्मीदवार हैं। संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र के इतर विदेश राज्यमंत्री एम. जे. अकबर, जर्मनी के फेडरल फॉरेन मिनिस्टर फ्रैंक वाल्टर स्टीनमियर, जापान के मंत्री फुमियो किशिदा की बुधवार (21 सितंबर) को यहां जी4 बैठक हुई।

एक संयुक्त प्रेस बयान में कहा गया, ‘जी4 के मंत्रियों ने सुरक्षा परिषद् में व्यापक सुधार की आवश्यकता की प्रतिबद्धता दोहराई है जो 21वीं सदी की भूराजनैतिक हकीकतों को ध्यान में रखते हुए आवश्यक है।’ इसने कहा, ‘उन्होंने जोर दिया कि जी4 देश स्थायी सदस्यता के लिए वैध उम्मीदवार हैं और एक-दूसरे की आकांक्षाओं का समर्थन करते हैं।’ बयान में बताया गया कि मंत्रियों ने संयुक्त राष्ट्र के अगले महासचिव के लिए अपनी उम्मीदों पर भी चर्चा की।

इसमें कहा गया कि संयुक्त राष्ट्र के गठन के 70 वर्ष बाद सुरक्षा परिषद् को बढ़ती वैश्विक चुनौतियों से निपटने में खुद को सक्षम बनाना होगा। बयान में कहा गया, ‘संघर्ष और मानवीय संकट के कई गुना बढ़ने को देखते हुए ज्यादा प्रतिनिधित्व, वैधानिक और प्रभावी परिषद् की जरूरत है ताकि पूरी दुनिया में शांति और सुरक्षा की गारंटी हो।’ इसने कहा कि जी4 देशों ने सभी सुधारोन्मुखी सदस्य देशों से प्रयास में शामिल होने और सार्थक सुधार लाने की अपील की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App