ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली में लड़की से एकतरफा प्‍यार, अमेरिका तक करता रहा पीछा, मिली 19 साल की सजा

अमेरिकी कोर्ट ने दोषी जितेंद्र सिंह पर चार हजार डॉलर का जुर्माना भी लगाया है।

Author वाशिंगटन | April 29, 2016 9:24 PM
बचाव पक्ष के वकील ने फैसले के खिलाफ अपील करने की बात कही।

करीब एक दशक तक एक महिला का नई दिल्ली से टेक्सास तक पीछा करने के लिए 32 साल के एक व्यक्ति को अमेरिका में 19 साल के कैद की सजा सुनायी गयी।

कोलिन काउंटी के डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ग्रेग विलिस ने गत बुधवार को जितेंद्र सिंह को सजा सुनायी। उसपर चार हजार अमेरिकी डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया। उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘निर्णायक मंडल पीड़िता के एक दशक लंबे दु:स्वप्न का अंत करता है।’’ हालांकि, बचाव पक्ष के वकील ने फैसले के खिलाफ अपील करने की बात कही।

विलिस के अनुसार सिंह पहली बार पीड़िता से दिल्ली के एक कॉलेज में मिला था, जहां दोनों पढ़ते थे। सिंह ने पीड़िता से 2006 में शादी करने के लिए कहा जबकि दोनों महज सहपाठी थे। पीड़िता ने शादी करने से इनकार कर दिया जिससे सिंह नाराज हो गया। इसके बाद सिंह ने पीड़िता के घर तक उसका पीछा करना शुरू कर दिया और उसे मारने पीटने की धमकी देने लगा। वह पीड़िता के स्नातक की पढ़ाई पूरी करने तक ऐसा करता रहा। 2007 में पीड़िता न्यूयार्क के एक विश्वविद्यालय में पढ़ने के लिए वहां चली गयी। लेकिन इससे सिंह की सनक कम नहीं हुई। अधिकारियों ने कहा कि सिंह ने उसका शोषण जारी रखा और महिला के पिता को भारत में पीटा। सिंह को भारत में अपराधों के लिए दोषी ठहराया गया लेकिन उसने एक अपील की और पीड़िता से दूर रहने का वादा किया।

सिंह इसके बाद न्‍यूयार्क गया। यहां उसने उसी यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने की कोशिश की। यूनिवर्सिटी ने उसे कैंपस से दूर रहने के लिए कहा। पीडि़ता जब इंटर्नशिप करने के लिए कैलिफोर्निया गई तो सिंह ने उसका पीछा किया। इसके बाद लड़की जब न्‍यूयार्क लौटी, सिंह भी उसके पीछे पीछे आ गया। एक आईटी कंपनी ने लड़की को हायर किया, जिसके बाद लड़की 2011 में प्‍लानो चली गई। 2011 से 2014 के बीच सिंह ने कथित तौर पर पीडि़त लड़की को फोन कॉल्‍स और अन्‍य कम्‍युनिकेशन के जरिए परेशान किया। लड़की जब घर से बाहर थी तो सिंह उसके घर में भी घुस गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App