ताज़ा खबर
 

फ्रांस में चर्च के पास चाकू से हमला, तीन की मौत, हत्यारे ने एक महिला का गला काटा

फ्रांस में हिंसा की यह घटना ऐसे वक्त हुई है, जब इस महीने की शुरुआत में ही पेरिस में एक स्कूल टीचर की गला काटकर हत्या कर दी गई थी। टीचर की हत्या इसलिए की गई थी क्योंकि उसने अपनी क्लास में पैगंबर मुहम्मद के कार्टून दिखाए थे।

france, terrorist attackफ्रांस में एक और आतंकी हमला। ((इमेज सोर्स- ट्विटर)

फ्रांस में एक हमलावर द्वारा चाकू से हमला कर तीन लोगों की हत्या करने का मामला सामने आया है। हमलावर ने एक महिला की गला काटकर वीभत्स तरीके से हत्या की है। यह घटना फ्रांस के नीस शहर की है, जहां के नोतरे देम चर्च के पास यह घटना हुई। नीस शहर के मेयर क्रिश्चियन एस्त्रोसी ने इसे आतंकी घटना करार दिया है। पुलिस के अनुसार, इस हमले में तीन लोगों की मौत हुई है और कई घायल हुए हैं। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, एक महिला का सिर इस हमले में चाकू से धड़ से अलग कर दिया गया है। फ्रांस का एंटी टेरेरिस्ट विभाग इस मामले की जांच करेगा। फ्रांस में हिंसा की यह घटना ऐसे वक्त हुई है, जब इस महीने की शुरुआत में ही पेरिस में एक स्कूल टीचर की गला काटकर हत्या कर दी गई थी। टीचर की हत्या इसलिए की गई थी क्योंकि उसने अपनी क्लास में पैगंबर मुहम्मद के कार्टून सार्वजनिक रूप से दिखाए थे। हालांकि “नीस में हुई हिंसा को लेकर अभी तक यह साफ नहीं है कि इस घटना के पीछे का उद्देश्य क्या था।”

बता दें कि चेचेन्या मूल के एक हमलावर ने बीते दिनों पेरिस में स्कूल टीचर सैमुअल पेटी की गला काटकर निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी। जिसके बाद फ्रांस में कट्टरपंथ के बढ़ते प्रभाव के खिलाफ आवाज उठीं। फ्रांस सरकार ने भी कट्टरपंथ के खिलाफ सख्त कदम उठाए, जिनमें फ्रांस में कुछ मस्जिदें बंद करने जैसे फैसले शामिल थे।

हमले में मारे गए अध्यापक के समर्थन में फ्रांस की सरकार ने वहां पैगंबर मुहम्मद के कार्टून सार्वजनिक रूप से दिखाने का फैसला किया था। जिसके तहत सरकारी बिल्डिंग पर प्रोजेक्टर के जरिए ये कार्टून दिखाए गए। इससे फ्रांस और दुनिया के कई मुस्लिम देशों में नाराजगी है। तुर्की, ईरान और पाकिस्तान फ्रांस सरकार की आलोचना भी कर चुके हैं।

बांग्लादेश में भी फ्रांस के खिलाफ नाराजगी देखी गई है। बांग्लादेश की राजधानी ढाका में बुधवार को बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और फ्रांस के सामानों के बहिष्कार की मांग की। इससे पहले तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन भी फ्रांस के सामानों के बहिष्कार की मांग कर चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘बाजवा के पैर कांप रहे थे, विदेश मंत्री कह रहे थे कि भारत 9 बजे करेगा हमला’, पाकिस्तानी MP ने संसद में बताया अभिनंदन के पकड़े जाने के बाद हुई बैठक का हाल
2 जम्मू-कश्मीर पर सऊदी अरब और ईरान ने दिया पाकिस्तान को करारा झटका
3 दवा कंपनी Pfizer ने इसी साल किया कोरोना वैक्सीन लाने का दावा, आएंगी 4 करोड़ डोज
यह पढ़ा क्या?
X