ताज़ा खबर
 

सीरिया में आतंकी ठिकानों पर फ्रांस ने बरसाए बम

पेरिस आतंकी हमले के बाद फ्रांस ने सोमवार को संदिग्ध चरमपंथियों के ठिकानों पर छापेमारी की और सीरिया में इस्लामिक स्टेट समूह के ठिकानों पर बमबारी की।..
Author पेरिस | November 17, 2015 01:13 am
इस्लामिक स्टेट के खात्मे के लिए रूस द्वारा किए गए हमले से सीरिया में ध्वस्त एक मकान। (रॉयटर्स फाइल फोटो)

पेरिस आतंकी हमले के बाद फ्रांस ने सोमवार को संदिग्ध चरमपंथियों के ठिकानों पर छापेमारी की और सीरिया में इस्लामिक स्टेट समूह के ठिकानों पर बमबारी की। दूसरी तरफ फ्रांस के प्रधानमंत्री मैनुअल वाल्स ने अपने देशवासियों को और अधिक रक्तपात होने की आशंका को लेकर आगाह किया।

फ्रांस में लोगों ने पेरिस पर अब तक के सबसे भयावह आतंकी हमलों में मारे गए लोगों की याद में सोमवार दोपहर को (भारतीय समयानुसार शाम 4:30 बजे) एक मिनट का मौन रखा। पेरिस में राष्ट्रपति फांस्वा ओलांद और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों ने काले कपड़ों में सोरबोन यूनिवर्सिटी में मृतकों को सिर झुकाकर श्रद्धांजलि दी। उनके चारों तरफ खड़े होकर बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने भी मौन रखा। इस दौरान पेरिस की सड़कों पर हजारों लोग श्रद्धांजलि देने के लिए उमड़े।

फ्रांसीसी जांच अधिकारियों ने दो और हमलावरों की पहचान की है जो पेरिस में हुए खूनी हमले में शामिल थे। इनमें वह हमलावर भी शामिल है जिसे पहले ‘आतंकवादी’ मामले में आरोपी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि 28 वर्षीय सैमी एमीमॉर बाटाक्लैन कॉन्सर्ट हॉल में 89 लोगों की हत्या में शामिल था।

दूसरे हमलावर के पास से एक सीरियाई पासपोर्ट बरामद हुआ है जिस पर अहमद अल मोहम्मद नाम दर्ज है। अधिकारियों ने कहा कि अभी इन दस्तावेजों की प्रामाणिकता सिद्ध होना बाकी है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने हाल में पहचाने गए पेरिस हमलावर के तीन रिश्तेदारों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने फ्रांस में कई स्थानों पर छापेमारी की है। फ्रांसीसी शहर ल्योन में पुलिस ने ‘हथियारों का जखीरा’ बरामद किया है जहां एक रॉकेट लांचर और क्लाशनिकोव रायफल भी थी।

फ्रांस के गृह मंत्री बर्नार्ड काजेनेवू ने बताया कि 100 से अधिक लोगों को नजरबंद रखा गया है, 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 31 हथियार जब्त किए गए हैं। अधिकारी पेरिस हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को पकड़ने में लगे हैं तो दूसरी ओर आम शहरी फिर से सामान्य दिनचर्या की ओर लौटने की कोशिश कर रहे हैं।

शुक्रवार को हुए हमलों के स्थानों के पास प्लेस डि ला रिपब्लिक में सैकड़ों लोगों ने आतंकी हमलों में मारे गए 129 लोगों को याद किया। बाताक्लां संगीत स्थल पर भी बड़ी संख्या में लोगों ने एकत्रित होकर मौन रखा। यहां भी हमलों में 89 लोग मारे गए थे।

पेरिस में मेट्रो ट्रेन यात्रियों से भरी थी, छात्र अपने स्कूल पहुंचे और संग्रहालय भी खोल दिए गए, हालांकि अभी देश में आपातकाल लगा हुआ है। प्रधानमंत्री मैनुएल वाल्स ने आगाह किया है कि पेरिस में हुए कत्लेआम के बाद फ्रांस और यूरोपीय देशों में नए हमले हो सकते हैं।

उन्होंने कहा, ‘हमें पता है कि सिर्फ फ्रांस ही नहीं बल्कि यूरोप के अन्य देशों के खिलाफ हमलों की साजिश रची जा रही है।’ वाल्स ने कहा कि पेरिस हमले की साजिश सीरिया में रची गई थी। उधर, जवाबी कार्रवाई करते हुए फ्रांसीसी युद्धक विमानों ने सीरिया में इस्लामिक स्टेट के गढ़ पर बम बरसाए।

शुक्रवार के वीभत्स आतंकी हमलों के बाद फ्रांस द्वारा बोले गए पहले हवाई हमलों में फ्रांसीसी युद्धक विमानों ने सीरिया में इस्लामी चरमपंथियों की वास्तविक राजधानी राका में मौजूद आइएस के ठिकानों पर बम बरसाए। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इन हमलों में आइएस की एक कमांड पोस्ट, जिहादी भर्ती केंद्र, एक युद्धक सामग्री डिपो और ‘आतंकी’ प्रशिक्षण केंद्र को नष्ट कर दिया गया।

इसमें कहा गया कि अभियान को अमेरिकी बलों के साथ मिलकर दर्जन भर विमानों के जरिए अंजाम दिया गया। इन विमानों ने जॉर्डन और संयुक्त अरब अमीरात से उड़ान भरी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.