ताज़ा खबर
 

भ्रष्टाचार के मुकदमे का सामना करेंगे ब्राजील के पूर्व राष्ट्रपति

पेट्रोब्रास जांच संबंधी मामले की सुनवाई कर रहे जज सर्जियो मोरो ने लूला के खिलाफ जांच कर रहे अभियोजकों द्वारा पिछले सप्ताह दायर आरोपों को मंजूरी दे दी।

Author ब्रासीलिया | September 22, 2016 6:26 AM
पूर्व राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डी सिल्वा।

ब्राजील के एक जज ने फैसला सुनाया है कि पूर्व राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डी सिल्वा को भ्रष्टाचार के मामले में मुकदमे का सामना करना होगा। अभियोजकों ने इस लोकप्रिय वामपंथी नेता पर सरकारी तेल कंपनी पेट्रोब्रास संबंधी घोटाले का सरगना होने का आरोप लगाया है। पेट्रोब्रास जांच संबंधी मामले की सुनवाई कर रहे जज सर्जियो मोरो ने लूला के खिलाफ जांच कर रहे अभियोजकों द्वारा पिछले सप्ताह दायर आरोपों को मंजूरी दे दी। इस मामले में संलिप्तता को लेकर देश के कुछ सबसे शक्तिशाली कारोबारी कार्यकारी अधिकारी एवं नेता निशाने पर आ गए हैं।मोरो ने अपने फैसले में कहा, ‘(लूला की) जवाबदेही के पर्याप्त सबूत होने के मद्देनजर मैं आरोपों में मुकदमा चलाने को स्वीकृति देता हूं।’ लूला पर आरोप है कि उन्होंने रिश्वत के रूप में 11 लाख डॉलर की राशि स्वीकार की।

लूला पर लगाए गए आरोपों में एक आरोप यह भी शामिल है कि लूला और उनकी पत्नी ने एक बड़ी निर्माण कंपनी ओएएस से समुद्र किनारे एक अपार्टमेंट लिया और कंपनी से उसमें और निर्माण भी कराया। पेट्रोब्रास घोटाले में ओएएस के भी शामिल होने का आरोप है। लूला 2003 से 2011 तक राष्ट्रपति की जिम्मेदारी निभा चुके हैं।
यह मामला 2018 में राष्ट्रपति पद के चुनावों में राजनीतिक वापसी की लूला की उम्मीदों पर पारी फेर सकता है। इस मामले ने वामपंथी वर्कर्स पार्टी की छवि खराब की है। लूला ने इस पार्टी की सह-स्थापना की थी।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 19959 MRP ₹ 26000 -23%
    ₹0 Cashback
  • Vivo V7+ 64 GB (Gold)
    ₹ 16990 MRP ₹ 22990 -26%
    ₹900 Cashback

सत्ता पर पिछले 13 वर्षों से काबिज पार्टी का शासन पिछले महीने उस समय समाप्त हो गया था जब लूला द्वारा चुनी गईं उनकी उत्तराधिकारी दिल्मा रोसेफ को उनके खिलाफ महाभियोग चलाए जाने के बाद बजट संबंधी अनियमितताओं का दोषी ठहराया गया था। हालांकि दिल्मा के खिलाफ लगे आरोप पेट्रोब्रास मामले से जुड़े नहीं हैं, लेकिन ब्राजील में भीषण मंदी के दौर में सामने आए इस घोटाले ने उन्हें पद से हटाने में बड़ी भूमिका निभाई। रोसेफ की जगह मिशेल तेमेर ने 31 अगस्त को राष्ट्रपति पद की शपथ ली। तेमेर ने लातिन अमेरिका की इस सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को वापस विकास की पटरी पर लाने का संकल्प लिया है लेकिन पेट्रोब्रास मामले के काले बादल उनके प्रशासन पर भी मंडराने लगे हैं और उनके कई सहयोगियों के खिलाफ जांच चल रही है। लूला ने ब्राजील में गहरी जड़ें जमा चुकी सदियों पुरानी असमानता को दूर करने के लिए कारोबार अनुरूप आर्थिक नीति को सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों के साथ जोड़ने के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा मिली थी। उन्होंने 2014 विश्व कप और रियो डी जनेरियो ओलंपिक की मेजबानी हासिल करने में भी अहम भूमिका निभाई थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App