पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी के पुत्र के खिलाफ हत्या का मामला

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी के पुत्र अब्दुल कादिर के सुरक्षा कर्मी ने अतिविशिष्ट व्यक्ति की आवाजाही (वीआईपी मूवमेंट) के लिए रास्ते से न हटने की वजह से, बाइक पर सवार एक युवक को कथित तौर पर गोली मार दी जिसके बाद कादिर के खिलाफ हत्या का एक मामला दर्ज किया गया […]

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी के पुत्र अब्दुल कादिर के सुरक्षा कर्मी ने अतिविशिष्ट व्यक्ति की आवाजाही (वीआईपी मूवमेंट) के लिए रास्ते से न हटने की वजह से, बाइक पर सवार एक युवक को कथित तौर पर गोली मार दी जिसके बाद कादिर के खिलाफ हत्या का एक मामला दर्ज किया गया है।

तनवीर जावेद नामक व्यक्ति ने पुलिस को बताया कि उसका 23 वर्षीय पुत्र ताहिर कल शाम मोटरसाइकिल से ‘‘डिफेन्स एरिया’’ में जा रहा था। उसी दौरान उसकी गिलानी के बड़े पुत्र अब्दुल कादिर और उसके सुरक्षा कर्मियों से बहस हो गई।

जावेद ने बताया ‘‘कादिर के सुरक्षा कर्मियों ने ताहिर को अतिविशिष्ट व्यक्ति के लिए रास्ते से हटने का संकेत दिया। लेकिन ताहिर को सड़क के एकदम बाईं ओर मुड़ने में थोड़ा समय लगा और सुरक्षा कर्मी ने उस पर गोली चला दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।’’

घटना के बाद, जावेद और उसके परिवार ने ताहिर के शव को डिफेन्स वाई ब्लॉक स्थित यूसुफ रज़ा गिलानी के आवास के बाहर रख दिया और कादिर तथा उसके सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग करने लगे।

क्रिकेट की दुनिया से राजनीति में आए इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इन्साफ के कार्यकर्ता भी विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गए। इमरान ने पाकिस्तान में ‘‘वीआईपी संस्कृति के खिलाफ’’ जंग का ऐलान किया है।

प्रदर्शनकारियों ने वीआईपी संस्कृति के खिलाफ नारे लगाए। पुलिस की एक बड़ी टुकड़ी प्रदर्शनकारियों को गिलानी के आवास में घुसने से रोकने के लिए मौके पर पहुंची।

प्रदर्शन के कई घंटे बाद पुलिस ने कादिर और पांच सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ हत्या तथा आतंकवाद के आरोप में मामला दर्ज किया।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी हैदर अशरफ ने बताया ‘‘हमने कादिर के एक सुरक्षा कर्मी मोहम्मद खान को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले कादिर तथा उनके पांच सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 302 और आतंकवाद निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया गया।’’

उन्होंने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज किए गए हैं।

अधिकारी ने बताया ‘‘किसी को भी बिना किसी उकसावे के सड़क पर मार डालने से समाज में आतंक पैदा होता है जिसकी वजह से हमने प्राथमिकी में आतंकवाद के आरोप शामिल किए हैं।’’

कादिर ने पुलिस को बताया कि उसके छोटे भाई अली हैदर गिलानी का मई 2013 में अपहरण होने के बाद उसके परिवार की सुरक्षा को गंभीर खतरा होने के कारण उसके सुरक्षा कर्मियों ने ताहिर को भूलवश ‘हमलावर’ समझ लिया और गोली चला दी।

उसने कहा ‘‘ताहिर के परिवार के लिए हम गहरी संवेदना जताते हैं।’’

पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने घटना पर संज्ञान लिया और लाहौर पुलिस प्रमुख को जांच के आदेश दिए। इसके बाद मामला दर्ज किया गया।

 

 

अपडेट