ताज़ा खबर
 

ईमेल मामले पर हिलेरी क्लिंटन से पूछताछ करेगी FBI: रिपोर्ट

अमेरिका की विदेश मंत्री रहते हुए अपने कार्यकाल के दौरान एक निजी ईमेल सर्वर का इस्तेमाल करने के मामले में जांच एवं खुफिया एजेंसी एफबीआई हिलेरी क्लिंटन से पूछताछ करेगी।

Author वाशिंगटन | May 7, 2016 2:35 PM
अमेरिका की विदेश मंत्री रहते हुए अपने कार्यकाल के दौरान एक निजी ईमेल सर्वर का इस्तेमाल करने के मामले में जांच एवं खुफिया एजेंसी एफबीआई हिलेरी क्लिंटन से पूछताछ करेगी। (Photo: Reuters)

अमेरिका की विदेश मंत्री रहते हुए अपने कार्यकाल के दौरान एक निजी ईमेल सर्वर का इस्तेमाल करने के मामले में जांच एवं खुफिया एजेंसी एफबीआई हिलेरी क्लिंटन से पूछताछ करेगी। एक मीडिया रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। एफबीआई और विधि मंत्रालय इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या किसी नियम का उल्लंघन हुआ या नहीं या ईमेल मामले के कारण किसी संवेदनशील सूचना से समझौता किया गया है या नहीं। ‘फॉक्स न्यूज’ की खबर के अनुसार, हिलेरी से पूछताछ से पहले शीर्ष जांच एजेंसी ने उनकी एक करीबी मित्र हुमा आबदीन से पूछताछ की।

Read Also:लंदन में नहीं चला मोदी कार्ड, बस ड्राइवर का बेटा बना पहला मुस्लिम मेयर

‘सीबीएस न्यूज’ के मुताबिक, एफबीआई आने वाले हफ्तों में राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी से इस मामले की जांच के बारे में पूछताछ करेगी। सीबीएस के मुताबिक हिलेरी की प्रचार मुहिम में कहा गया है कि उन्हें विश्वास है कि एफबीआई की जांच में यही बात सामने आएगी कि “कुछ भी गलत नहीं हुआ।” बहरहाल, जांच पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

Read Also: अमेरिका में मुस्लिमों पर बैन की बात पर कायम ट्रंप, हिलेरी बोलीं- खतरनाक दिशा को बर्दाश्त नहीं करेंगी

68 वर्षीय हिलेरी पहले ही यह स्वीकार चुकी हैं कि निजी ईमेल सर्वर का इस्तेमाल एक चूक थी। लेकिन, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इसकी वजह से किसी संवेदनशील सूचना से समझौता नहीं किया गया। लीबिया के बेनगाजी में अमेरिकी मिशन पर हुए एक आतंकवादी हमला मामले से निपटने के हिलेरी के तरीके पर रिपब्लिकन नेतृत्व वाली कांग्रेशनल जांच के दौरान सबसे पहले 2015 में इस बात का खुलासा हुआ था कि हिलेरी ने ईमेल के जरिए आधिकारिक एवं निजी बातचीत के लिए एक निजी सर्वर का इस्तेमाल किया। 2012 में हुए इस हमले में अमेरिकी दूत और तीन अन्य अमेरिकी नागरिकों की मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App