ताज़ा खबर
 

कैंसर को मात दे चुकी थी 21 महीने की बेटी, पिता ने बेसबॉल बैट से पीट-पीटकर मार डाला, फिर जला दिया

पुलिस को उससे यह उगलवाने में काफी समय लगा कि कैसे उसने बच्‍ची को मारा और उसकी लाश को छिपाया।

रयान लॉरेंस, मॉर्गन लॉरेंस और मारी गई बच्‍ची मैडाॅक्‍स। (Source: Facebook)

अमेरिका में एक पिता द्वारा अपनी बेटी को पीट-पीट कर मार डालने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। न्‍यू यॉर्क के शहरी इलाके में रहने वाली 21 महीने की मैडॉक्‍स लॉरेंस को दुर्लभ तरह का कैंसर था। वह इस खतरनाक बीमारी से लड़ी और जीत हासिल की। फरवरी 2016 में अचानक वह अपने घर से गायब हो गई। उसका पिता रयान लॉरेंस भी लापता हो गया। वह मैडॉक्‍स की मां, मॉर्गन लॉरेंस के लिए एक नोट छोड़कर गया था, जिसमें उसने अंदेशा जताया था कि वह शायद खुद को या अपनी बच्‍ची को नुकसान पहुंचा सकता है। अधिकारियों ने अलर्ट जारी कर दोनों की खोजबीन शुरू कर दी। कुछ ही दिन में पुलिस ने रयान लॉरेंस को ढूंढ़ निकाला। उन्‍हें सिराकूज की छोटी नदी में से एक बच्‍ची की लाश मिली, उसे बुरी तरह पीटा गया थ, जलाया गया था, और फिर उसे दलदली इलाके में दफनाया गया था। वह मैडॉक्‍स लॉरेंस की लाश थी। 25 साल के रयान पर अपनी बेटी को मारने का आरोप लगा। बीते गुरुवार (15 सितंबर) को अदालत के सामने रयान ने जुर्म कबूल लिया, उसे 25 साल तक जेल में रहना पड़ सकता है। रयान को अगले महीने सजा सुनाई जाएगी।

द वाशिंगटन पोस्‍ट की खबर के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि लॉरेंस ने अपनी बेटी के सिर पर लकड़ी के बेसबॉल बैट से वार किया, उसे मार डाला। फिर उसकी जाल को जलाया और भट्ठी में फेंक दिया। उसके बाद वह अपनी बेटी की लाश को ओननडागा काउंटी ले गया, जहां उसने उसे एक पत्‍थर से बांधा और छोटी नदी में डुबो दिया। मैडाॅक्‍स की मौत के दो दिन बाद अधिकारियों को लॉरेंस मिल गया। उसे सड़क पर एक शख्‍स ने देख लिया, हालांकि उसने हुलिया बदल रखा था। पुलिस के मुताबिक, शुरुआत में उसने जांच में सहयोग नहीं किया। उसने कई सारी कहानियां बनाईं। पुलिस को उससे यह उगलवाने में काफी समय लगा कि कैसे उसने बच्‍ची को मारा और उसकी लाश को छिपाया। जब उसने पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूला तो उसने अपनी बेटी को मारने की कई वजहें गिनाईं।

READ ALSO: भारतीय पत्रकार का दावा- पाकिस्‍तान ने प्रेस कांफ्रेंस से बाहर निकलवाया, कहा- इस इंडियन को निकालो

एक पिता द्वारा बच्‍ची की हत्‍या पर अमेरिकी समाज एकजुट नजर आ रहा है। लोगों ने बच्‍ची की याद में छोटी नदी के पास एक स्‍मारक बनवाया है, और वे वहां मोमबत्तियां, टेडी बियर्स और बाकी खिलौने छोड़कर जाते हैं। उसकी याद में एक फेसबुक पेज भी बनाया गया है। मुकदमेबाजी के दौरान प्रॉसीक्‍यूशन ने कहा कि कैंसर से उबरने के बाद बच्ची को जैसी ‘अटेंशन’ मिल रही थी, रयान लॉरेंस शायद उससे जलने लगा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App