ताज़ा खबर
 

इस्राइल के राष्ट्रपति नेतन्याहू के बेटे को फेसबुक ने किया ब्लॉक, मुस्लिम विरोधी पोस्ट करने का आरोप

उन्होंने एक अन्य फेसबुक पोस्ट में लिखा कि शांति के केवल दो ही संभावित समाधान हैं, ‘या तो सभी यहूदी इस्राइल छोड़ दें या फिर सभी मुसलमान इस्राइल छोड़ दें।’ पोस्ट में आगे लिखा गया, ‘मैं दूसरे विकल्प को तवज्जो देता हूं।’

Author December 18, 2018 2:23 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के सबसे बड़े बेटे याइर नेतन्याहू के मुस्लिम विरोधी पोस्ट के चलते फेसबुक ने उनका एकाउंट 24 घंटे के लिए बंद कर दिया। बाद में याइर नेतन्याहू  ने सोशल नेटर्विकंग साइट के इस कदम को ‘तानाशाही’ करार दिया। दरअसल फलस्तीन की ओर से हुए घातक हमलों के बाद याइर नेतन्याहू ने अपने फेसबुक पेज पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने लिखा कि सभी मुसलमान इस्राइल छोड़ दें।

उन्होंने एक अन्य फेसबुक पोस्ट में लिखा कि शांति के केवल दो ही संभावित समाधान हैं, ‘या तो सभी यहूदी इस्राइल छोड़ दें या फिर सभी मुसलमान इस्राइल छोड़ दें।’ पोस्ट में आगे लिखा गया, ‘मैं दूसरे विकल्प को तवज्जो देता हूं।’ याइर ने यह टिप्पणी तब की जब बीते गुरुवार को मध्य वेस्ट बैंक में एक बस्ती के पास एक बस स्टेशन पर हुए हमले में दो सैनिकों की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

इसी दिन पास में हुए एक अन्य हमले में एक महिला गोली लगने से घायल हो गई जिससे इस महिला को समय पूर्व ही प्रसव हो गया। बाद में नौ दिसंबर को बच्चे की भी मौत हो गई। फेसबुक ने याइर नेतन्याहू के पोस्ट साइट से हटा दिए। इस पर उन्होंने ट्विटर पर फेसबुक की आलोचना की और उसके कदम को ‘तानाशाही’ करार दिया।

इसके अलावा द टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक, याइर के फेसबुक खाते को पिछले रविवार (16 दिसंबर, 2018) को 24 घंटों के लिए ब्लॉक कर दिया गया। इस रिपोर्ट में बताया गया कि पीएम के बेटे ने वेस्ट बैंक गोलीबारी में मारे गए इजरायली रक्षा बलों (आईडीएफ) के दो जवानों की ‘मौत का बदला’ लेने का आह्वान किया था, जिसके बाद फेसबुक ने यह कार्रवाई की। ब्लॉक किए जाने पर याइर ने ट्विटर पर कहा, ‘अविश्वसनीय। मात्र आलोचना के लिए मुझे फेसबुक ने 24 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया।’

खबर लिखे जाने तक फेसबुक ने अभी तक इस मुद्दे पर टिप्पणी नहीं की है। विवादित फेसबुक पोस्ट के हटाए जाने के बाद उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया दिग्गज एकमात्र ऐसी जगह है, जहां हमारे पास अपने विचारों को व्यक्त करने का अधिकार है, और वहां भी हमारा मुंह बंद करने का प्रयास किया जा रहा है। याइर ने फेसबुक की आलोचना वाले नए पोस्ट के साथ मूल पोस्ट का स्क्रीनशॉट भी पोस्ट किया है। उन्होंने पोस्ट में कहा, ‘क्या आपको पता है कहां आतंकी हमले नहीं होते? आइसलैंड और जापान। संयोग से, वहां मुस्लिम आबादी नहीं रहती है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App