ताज़ा खबर
 

रूसी जासूस को यूं जहर देकर गायब हो गई, लाल हैंडबैग वाली महिला को ढूंढ़ रही पुलिस

पिछले दो सालों के अंदर ही सर्गेई की पत्नी, बेटे और बड़े भाई की रहस्यमई तरीके से मौत हुई थी। पुलिस फिलहाल इन मौतों की भी जांच कर रही है। बता दें कि सर्गेई एक सेवानिवृत्त रूसी सैन्य खुफिया अधिकारी हैं। उन्हें 2006 में रूस द्वारा 13 साल के लिए जेल की सजा सुनाई गई थी।

Author Published on: March 7, 2018 2:49 PM
रूस के पूर्व जासूस सर्गेई स्क्राइपल (REUTERS फोटो)

इंग्लैंड में रूस के पूर्व जासूस सर्गेई स्क्राइपल और उनकी बेटी यूलिया स्क्राइपल को जहर देकर मारने की कोशिश की गई है। यह घटना इंग्लैंड के सेलिसबरी सिटी में रविवार दोपहर को हुई। दरअसल, सेलिसबरी के एक शॉपिंग सेंटर के बाहर एक बेंच पर रविवार दोपहर को 66 वर्षीय सर्गेई और 33 वर्षीय यूलिया को बेहोश पाया गया। फिलहाल दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। दोनों की हालत इस वक्त गंभीर बनी हुई है। इस घटना से संबंधित एक सीसीटीवी फुटेज मंगलवार को पुलिस द्वारा जारी किया गया है।

इस फुटेज में एक आदमी और एक औरत उस बेंच के पास से गुजरते हुए दिखाई दे रहे हैं, जहां सर्गेई और यूलिया को बेहोश पाया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक रूस के जासूस और उनकी बेटी के बेहोश होने से कुछ ही पल पहले ही वीडियो में दिखने वाले आदमी और औरत ने उस बेंच को क्रॉस किया था। पहले कहा जा रहा था कि वीडियो में जो औरत दिख रही है वह यूलिया होगी, लेकिन यूलिया के बाद लाल रंग के हैं और उस औरत के बालों का रंग भूरा है। औरत के हाथ में लाल हैंडबैग भी दिखाई दे रहा है। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दोनों को तलाश कर रही है। पुलिस ने सेलिसबरी सिटी के जिजी रेस्टोरेंट और बिशप मील पब को सील कर दिया है। सर्गेई और यूलिया अक्सर ही वहां जाते थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक दोनों को चूहामार दवा देकर मारने की कोशिश की गई है, हालांकि डॉक्टर्स की ओर से बात की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

बता दें कि सर्गेई और उनकी बेटी को जहर देने का केस काफी हाई प्रोफाइल है। पिछले दो सालों के अंदर ही सर्गेई की पत्नी, बेटे और बड़े भाई की रहस्यमई तरीके से मौत हुई थी। पुलिस फिलहाल इन मौतों की भी जांच कर रही है। बता दें कि सर्गेई एक सेवानिवृत्त रूसी सैन्य खुफिया अधिकारी हैं। उन्हें 2006 में रूस द्वारा 13 साल के लिए जेल की सजा सुनाई गई थी। उनके ऊपर रूसी खुफिया एजेंटों की जानकारी यूके सीक्रेट इंटेलिजेंस सर्विस एम16 तक पहुंचाने का आरोप लगा था, इसी मामले में उन्हें दोषी करार दिया गया था। हालांकि मास्को ने सर्गेई को एफबीआई से 10 रूसी जासूसों को छोड़ने के बदले में रिहा कर दिया था। उसके बाद सर्गेई यूके चले गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 श्रीलंका में दस दिन का आपातकाल लगा, भारतीय टीम की सुरक्षा बढ़ाई गई
2 रूस का प्लेन सीरिया में क्रैश, 39 लोगों की मौत
3 प्रतिबंध के बावजूद हाफिज सईद पर लगाम नहीं लगा रही पाकिस्‍तान सरकार
जस्‍ट नाउ
X